aapkikhabar aapkikhabar

क्रिकेट मैच में हार के बाद बोले आस्ट्रेलिया के कप्तान ऐसा तो सर में चोट लगने पर भी नहीं हुआ था दर्द



क्रिकेट मैच में हार के बाद बोले आस्ट्रेलिया के कप्तान ऐसा तो सर में चोट लगने पर भी नहीं हुआ था दर्द

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान

नई दिल्ली । इंग्लैंड ऑर ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गए तीसरे वनडे मैच में इंग्लिश टीम ने 50 ओवर में छह विकेट पर 481 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड बना दिया। ये वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा टीम स्कोर का नया विश्व रिकॉर्ड रहा। इससे पहले भी यह विश्व रिकॉर्ड इंग्लैंड के ही नाम था, जो उसने करीब दो साल पहले इसी मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ तीन विकेट पर 444 रन के साथ बनाया था।


इसके बाद इंग्लिश टीम ने ऑस्ट्रेलिया को 37 ओवर में 239 रनों पर ऑलआउट करके यह मैच 242 रनों से जीता। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली। इतनी बड़ी हार के बाद ऑस्ट्रेलिया के कप्तान टीम पेन ने कहा कि ये उनके जीवन का सबसे मुश्किल दिन रहा।


ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी हार


242 रन की ये हार वनडे क्रिकेट के इतिहास में पांच बार की विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़े हार रही। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की टीम को 1986 में एडिलेड के मैदान पर न्यूज़ीलैंड ने 206 रन से मात दी थी। 32 साल बाद इंग्लैंड ने इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। वहीं इंग्लैंड की भी ये वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत रही।


हार के बाद ये बोले कप्तान


इस करारी हार के बाद आस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने इसे अपने जीवन का सबसे मुश्किल दिन बताया। मैच खत्म होने के बाद संवाददाता सम्मेलन में टिम ने कहा, 'यह मुश्किल दिन था। पिछले मैच में सिर पर गेंद लगने के कारण मुझे दर्द महसूस हो रहा था, लेकिन सच कहूं तो इस मैच में मिला दर्द अधिक था।' टिम ने ड्रेसिंग रूम में कहा कि वह बचपन से क्रिकेट खेलते आ रहे हैं, लेकिन यह वनडे उनके जीवन में क्रिकेट करियर के सबसे मुश्किल भरा दिन रहा।


उन्होंने कहा, 'हमारा हर प्रयास असफल रहा। सामान्य तौर पर एक या दो घंटे के बाद आपको कुछ विकेट हासिल होते हैं, लेकिन यह काफी लंबे समय तक चला। मुझे नहीं लगता कि परिस्थितियां, विकेट और हमने पहले जो किया वो सभी इस परिणाम का कारण हैं। हमने कुछ ऐसे खिलाड़ियों का सामना किया, जिन्होंने हमें पछाड़ दिया।'


ऐसे मिली शर्मनाक हार


ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जरूर जीता, लेकिन इसके बाद इंग्लैंड के बल्लेबाज छाए रहे। इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए पुरुष क्रिकेट में वनडे क्रिकेट का सबसे बड़ा स्कोर बना दिया। इंग्लैंड ने निर्धारित 50 ओवर में 6 विकेट के नुकसान पर 481 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। इंग्लैंड के ओपनर जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो ने मिलकर 159 रन की ओपनिंग साझेदारी की। इसके बाद एलेक्स हेल्स ने सिर्फ 92 गेंदों पर 147 रन तो वही जॉनी बेयरस्टो ने 92 गेंदों पर 139 रन की दमदार पारी खेली। बेयरस्टो आउट हुए तो कप्तान मोर्गन ने भी 30 गेंदों में 67 रन ठोक दिए। इन सभी बल्लेबाज़ों के योगदान के चलते इंग्लैंड की टीम ने मैन्स क्रिकेट वनडे का सबसे बड़ा स्कोर खड़ा कर दिया।


इसके बाद 482 रन के विशाल स्कोर का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम 37 ओवर में 239 रनों पर ऑलआउट हो गई और इंग्लैंड ने यह मैच 242 रन से जीता। ऑस्ट्रेलियाई टीम की तरफ से एकमात्र बल्लेबाज़ जिन्होंने अर्धशतक लगाया वो ट्रेविस हेड रहे। हेड ने 51 रन की पारी खेली। इसके बाद मार्कस स्टोइनिस ने 44 रन बनाए। इंग्लैंड की तरफ से आदिल राशीद ने 4, मोइन अली ने 3 और डेविड विली ने दो विकेट लिए।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के