aapkikhabar aapkikhabar

Anil Kapoor एक्टिंग के साथ-साथ ट्रम्पेट बजाना था चुनौतीपूर्ण



aapkikhabar
+2

 Anil Kapoor ने अक्सर संगीत सीखने के लिए किसी सीमा को अपने बीच आने नहीं दिया।


 डेस्क - Anil Kapoor के लिए यह एक लंबी यात्रा रही है जहाँ 1983 में आई फ़िल्म "वो सात दिन" के लिए अभिनेता ने हारमोनियम सिख कर अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरुवात की थी|


 अब "फन्ने खान" के लिए अनिल कपूर ने ट्रम्पेट पर हाथ आजमाया है। भले ही इन दोनों फिल्मों के बीच 35 वर्ष का अंतराल हो गया है लेकिन इंस्ट्रूमेंट सीखने की ललक हमेशा की तरह आज भी बुलंद है। जैसे ही उन्होंने अपनी पहली फिल्म के लिए किया था, वह फन्ने खान की शूटिंग शुरू करने से पहले ट्रम्पेट बजाने में कुशल बन गए थे।

अनिल कपूर ने  कहा - ,"परिश्रम आवश्यक था। ट्रम्पेट मेरे चरित्र का एक अभिन्न हिस्सा है। यह पूरी फिल्म में मेरे साथ एक सम्मानित अधिकार के रूप में रहता है। मैं नया इंस्ट्रूमेंट सीखने के लिए उत्साहित था और पेशेवर खिलाड़ी रमेश कुमार गुरुंग से इसे बजाना सीखा है।"



 Anil Kapoor अपने कई फिल्म में तरह-तरह के इंस्ट्रूमेंट बजा चुके हैं 



  • अनिल कपूर अपनी फिल्मों में तरह-तरह के इंस्ट्रूमेंट बजा चुके है, यहाँ तक कि 1971 में आई फ़िल्म "तू पायल में गीत" में बतौर बाल कलाकार वह सितार भी बजा चुके है लेकिन इन सब के बीच ट्रम्पेट सीखना उनके लिए सबसे कठिन था।

  • इसे बजाना और अभिनय के साथ इसे बजाना, दो अलग अलग बातें है। इंस्ट्रूमेंट बजाने के वक़्त हावभाव व्यक्त करना चुनौतीपूर्ण था।

  • मेरा किरदार फन्ने जब भी दुःखी या खुश होता है तो वह इसे बजाता है इसिलए मुझे इसे रियल दिखाने की ज़रूरत थी।"

  • अनिल कपूर ने अक्सर संगीत सीखने के लिए किसी सीमा को अपने बीच आने नहीं दिया।

  • सितार सीखने के उनके प्रयास के दौरान उन्हें रोज़ाना चेम्बूर से बांद्रा तक सफ़र करना पड़ता था जबकि उस वक़्त वह महज़ 12 वर्ष के थे।


Shahrukh Khan मुफ्त प्लास्टिक सर्जरी चिकित्सा शिविर का करेंगे आयोजन


 

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के