aapkikhabar aapkikhabar

जानिए गुरु पूर्णिमा के दिन क्या करना चाहिए



जानिए गुरु पूर्णिमा के दिन क्या करना चाहिए

गुरु पूर्णिमा

अगर जीवन में एक अच्छा गुरु मिल जाये तो हमारा जीवन सफल हो जाता है |



डेस्क-गुरु जो हमे हर वक्त एक सही दिशा में चलने की सिख देते हैं |जो हमारे जीवन को प्रकाश से भर देते हैं |अगर जीवन के सफर में कुछ समझ में नही आता है तब हम अपने गुरु की कही उन बातो को याद करने लगते है और फिर एक नई राह दिख जाती है और हम फिर अपने कामों में लग जाते है |


अगर जीवन में एक अच्छा गुरु मिल जाये तो हमारा जीवन सफल हो जाता है |इसलिए हम सभी को अपने गुरु का सम्मना करना चाहिए |


Cancer और Sugar कंट्रोल करना है तो खाएं यह चीज
गुरु पूर्णिमा का जाने महत्व



  • आषाढ़ के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को ही गुरु पूर्णिमा कहते हैं।

  • हिन्दू धर्म में या यूं कहें कि भारत में गुरु पूर्णिमा का बेहद महत्व है।

  • ना केवल हिन्दू भाई, बल्कि सिख भाई भी इस दिन को महत्वपूर्ण मानते हुए अपने अनुसार मनाते हैं।


 गुरु पूर्णिमा क्यों मनाते हैं



  • यूं तो हर माह की पूर्णिमा को हिन्दू धर्म में महत्वपूर्ण माना गया है।

  • पूर्णिमा का दिन अनेकों शास्त्रीय उपायों और सिद्धियों को प्राप्त करने के लिए माना गया है, लेकिन गुरु पूर्णिमा इन सभी से अधिक महत्वपूर्ण है।


गुरु की करनी चाहिए पूजा



  • माना जाता है कि महर्षि वेद व्यास, जिन्हें हिन्दू धर्म में ब्रह्मज्ञानी, ज्ञानियों के ज्ञानी माना गया, इस दिन उन्हीं की पूजा की जाती है।

  • शास्त्रों में वेद व्यास जी को ‘आदिगुरु’ कहकर सम्मानित किया गया है, अत: यही कारण है कि गुरु पूर्णिमा के दिन उन्हें पूजनीय माना गया है।

  • गुरु पूर्णिमा के दिन वेद व्यास जी के अलावा लोग अपने गुरु की भी पूजा-सेवा करते हैं।

  • अपने जीवन में हमने जिन्हें गुरु माना है, जिनके नक्शे कदमों पर चलना सीखा है, इस दिन उन्हें प्रसन्न करना मानो ईश्वर का आशीर्वाद पाने जितना माना गया है।

  • इसलिए यह दिन गुरु-शिष्य के संबंध को समर्पित है।


गुरु पूर्णिमा के दिन क्या करें



  •  गुरु पूर्णिमा के दिन यदि आप अपने गुरु का सम्मान करते है तो  महर्षि वेद व्यास के साथ सभी देवी-देवताओं का आशीर्वाद आपके ऊपर बना रहेगा।

  • इसलिए भूल से भी आप अपने गुरु का अपमान न करे |


 


- Sneh lata kaushal



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के