aapkikhabar aapkikhabar

यहां आपको पता चलेगा अंग्रेजों ने किस तरह से लखनऊ को लूटा-खसोटा,



यहां आपको पता चलेगा अंग्रेजों ने किस तरह से लखनऊ को लूटा-खसोटा,

देवरिया शेल्टर होम कांड मामले में मंत्री बृजेश पाठक का बयान


  • देवरिया शेल्टर होम कांड को लेकर कानून मंत्री बृजेश पाठक का बड़ा आरोप

  • सपा कार्यकर्ताओं का ही था एनजीओ

  • दोषियों को नहीं बख्शेगी सरकार


बाराबंकी- देवरिया शेल्टर होम कांड को लेकर प्रदेश की सियासत गर्म है। मामले में विपक्षी दल सीबीआई जांच की मांग करते हुए सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रहे हैं। वहीं विपक्ष के कड़े तेवर का जवाब देते हुए योगी सरकार के कानून मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का ही ये एनजीओ है। इस मामले में वही लोग राजनीति कर रहे हैं।


बृजेश पाठक आज बाराबंकी में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालजी टंडन की किताब अनकहा लखनऊ के विमोचन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आए थे। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में किताब के लेखक और पूर्व सांसद लालजी टंडन, पूर्व लोकायुक्त एके मेहरोत्रा समेत तमाम दिग्गज इकट्ठा हुए।


- देवरिया शेल्टर होम कांड को लेकर बोलते हुए बृजेश पाठक ने कहा कि ये घटना बेहद दुखद है, इसकी जितनी भी भर्त्सना की जाए वो कम है। लेकिन ये एनजीओ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का ही है इसलिए वह इस मामले में राजनीति न करें। पाठक ने कहा किन सीएम योगी आदित्यनाथ ने जबसे प्रदेश में सरकार की बागडोर संभाली है उसके बाद से ही वह लगातार ऐसे मामलों को लेकर चिंतित हैं और वह इस एनजीओ को बंद करने का आदेश काफी पहले ही दे चुके थे। जो एनजीओं ये शेल्टर होम चला रहा था उसको सरकार ने फंड देने से मना कर दिया था। सभी अधिकारियों को इस मामले में पत्र लिखकर भी सूचित किया गया था कि वह इस एनजीओ को कोई फंड रिलीज न करें और इस शेल्टर होम को बंद करवाएं, लेकिन अधिकारियों ने इसे चलने दिया। इसीलिए सरकार सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रही है और इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। बृजेश पाठक ने कहा कि ये बेहद दुखद मामला है। जब ये एनजीओ इस काम के लायक नहीं थी तो उसे कैसे काम दिया गया, सरकार इस मामले को लेकर बहुत गंभीर है।



- वहीं गांधी जयंती समारोह ट्रस्ट की ओर से जिला पंचायत सभागार में आयोजित कार्यक्रम में बृजेश पाठक ने लालजी टंडन की लिखी पुस्तक अनकहा लखनऊ को लेकर कहा कि इस किताब में मुगलकाल और अंग्रेजों से लेकर आज तक की पूरी तस्वीर दिखाई गई है। अंग्रेजों ने किस तरह से लखनऊ को लूटा-खसोटा, मुगलकाल में किस तरह से लखनऊ का निर्माण हुआ और किस तरह से लोगों ने शहर का विकास किया इन सब बातों को पूरे विस्तार से किताब में लिखा गया है। किताब को पढ़कर अवध के लोगों के संघर्ष की पूरी कहानी सभी लोगों को पता चलेगी।


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के