aapkikhabar aapkikhabar

खर्राटे की प्रॉब्लम को कैसे करे दूर



खर्राटे की प्रॉब्लम को कैसे करे  दूर

खर्राटे की प्रॉब्लम को कैसे करे दूर

 


 मोटापा खर्राटे का एक प्रमुख कारण है, यदि खर्राटे से बचना है तो अपने शरीर को हमेशा फिट रखें|


डेस्क-आप देखते होंगे कि कुछ लोगो को सोते वक्त जोर जोर से से आवाज करने की आदत होती हैं। जिस हम  खर्राटे कहते है |खर्राटे की समस्या आज कल हर घर में पाई जाती है |अधिकतर लोग मानते हैं कि खर्राटे लेना एक आदत है| 


खर्राटे क्यों लेते है 



  • खर्राटे लेना एक आदत नही बल्कि एक समस्या है|

  • खर्राटे लेने वाले को खुद भी यह पता नही चलता कि वह खर्राटे ले रहा रहा है|

  • बल्कि उसे वो लोग बताते है जिनकी इन खर्राटों की वजह से नींद खराब हो गईं हैं|

  • वही कुछ लोगो के खर्राटे इतने तेज होते हैं, कि इन खर्राटों की आवाज से उनकी खुद की ही नींद खुल जाती है|

  • इसके अलावा तेज खर्राटे शरीर मे कई समस्याओं के जनक बन सकते हैं|इसलिये जितना जल्दी हो सके खर्राटों का इलाज कराएँ|


Health के लिए लाभकारी है बेलपत्र


खर्राटे को दूर करने के उपाय



  • मोटापा खर्राटे का एक प्रमुख कारण है, यदि खर्राटे से बचना है तो अपने शरीर को हमेशा फिट रखें|

  • कोशिश करे कि हमेशा करवट लेकर सोयें, इससे खर्राटों की समस्या कम हो जाती है|

  • कभी कभी खर्राटे आने का कारण गले मे सूजन का होना होता है, ऐसी परिस्थिति में नमक का सेवन कम करें|

  • सिर ऊँचा करके सोने से यह समस्या कम होती है|

  • सोते समय बॉडी को रिलैक्स रखे, मन को पूरी तरह शांत रखे|

  • गर्म-गरम दूध में हल्दी डालकर पीने से खर्राटे नहीं आते, या आना बंद हो जाते हैं|

  • हल्दी को घी में भून कर उनको अपने मुहं में रख लें, और इसका रस चूसें|

  • इलाइची, दालचीनी, अदरक, ग्रीनटी चाय पीने से जल्द छुटकारा मिल जाता है|

  • लहसून को सरसों के तेल में गरम करके इस तेल से छाती और गले की अच्छी तरह मालिश करे|


 


खर्राटे आने के कारण  



  • खर्राटे आना का प्रमुख कारण सांसो में आने वाली रुकावट है|

  • यह रुकावट जीभ के द्वारा आ सकती है|

  • जीभ मोटी होने पर सांस लेने में दिक्कत आती है|

  • इसलिए जीभ की सफाई नियमित करना चाहिए|

  • जो लोग पीठ के बल सोते है, उनमे यह दिक्कत ज्यादा देखने मे आती है|

  • यदि नाक के अंदर का मांस बढ़ गया हो या फिर नाक ही हड्डी किसी कारण से टेढ़ी हो तो ये सांस छिद्रों को छोटा कर देते है, और

  • सांस लेने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता है, ताकि पर्याप्त मात्रा में हवा जा  सके|

  • खर्राटे आने का एक कारण ठंडी चीजो का सेवन भी है|

  • कभी किसी कारण से यदि सांस नली में संकुचन हो जाए तो तो खर्राटे आने लगते है|

  • नशीले पदार्थो का सेवन, ध्रूमपान करना भी इस समस्या को जन्म देते है|



लहसुन खाने के जाने क्या फायदे


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के