aapkikhabar aapkikhabar

क्यों बने भगवान विष्णु शिव जी के भक्त जानिए



aapkikhabar
+2

डेस्क-एक बार नारायण जिन्हें हम भगवान विष्णु भी कहते हैं ने सोचा कि वो अपने इष्ट देवों के देव महादेव को प्रसन्न करने के लिए उन्हें एक हजार कमल के पुष्प अर्पित करेंगे। पूजा की सारी सामग्री एकत्रित करने के बाद उन्होंने अपना आसान ग्रहण किया। और आँखे बंद कर के संकल्प को दोहराया। और अनुष्ठान शुरू किया। किन्तु आज इस क्षण भगवान शंकर भगवान की भूमिका में थे और भगवान नारायण भक्त की। भगवान शिव शंकर को एक ठिठोली सूझी।



  • उन्होंने चुपचाप सहस्त्र कमलो में से एक कमल चुरा लिया।

  • नारायण अपने इष्ट की भक्ति में लीन थे। उन्हें इस बारे कुछ भी पता न चला।

  • जब नौ सौ निन्यानवे कमल चढ़ाने के बाद नारायण ने एक हजारवें कमल को चढ़ाने के लिए थाल में हाथ डाला तो देखा कमल का फूल नहीं था।

  • कमल पुष्प लाने के लिए न तो वे स्वयं उठ कर जा सकते थे न किसी को बोलकर मंगवा सकते थे।


 

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के