aapkikhabar aapkikhabar

एक ऐसा अद्भुत मंदिर जिसके बारे में जानकर आप भी रह जायेगे हैरान



aapkikhabar
+2

3000000 हाथ पत्थर इसमें से काट कर निकाल दिया गया


डेस्क-कैलाश मंदिर को बनाने में लगभग 350 साल लगे होंगे इसका अनुमान लगाया जाता है कैलाश मंदिर बनाने का कार्य लगभग छठी शताब्दी से 10 वीं शताब्दी तक चला होगा कैलाश मंदिर को बनाने में आठवीं सदी में 7000 शिल्प करता द्वारा सौ साल लगे 85000 क्यूबिक मीटर की ज्वाला चट्टान को काटकर इसे बनाया गया अधिकतर मंदिर को नीचे से ऊपर की ओर बनाया जाता है |


 कैलाश मंदिर को ऊपर से नीचे की ओर बनाया था कैलाश मंदिर तीन मंजिला ऊंचा है


कैलाश मंदिर का प्रवेश द्वार 50 मीटर लंबा और 33 मीटर चौड़ा है 3000000 हाथ पत्थर इसमें से काट कर निकाल दिया गया है इसका अनुमान है 400000 टन पत्थर को काटकर हटाया गया होगा |कुछ लोगों का कहना यह है कि यह 6000 साल पहले बनाया गया था कुछ लोगों का क्या कहना है कि यह 12000 साल पहले बनाया गया था पर इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता है क्योंकि इससे जुड़े कोई दस्तावेज नहीं मिले |


कैलाश मंदिर में वर्षा के पानी को संक्षिप्त करने की विधि इसमें यूज़ की गई है ताकि वर्षा के पानी को इस्तेमाल किया जा सके जो कि अंडर ग्राउंड में स्थित है इस मंदिर की रचना बिना किसी सीमेंट या अन्य कोई कंस्ट्रक्शन मटेरियल द्वारा नहीं की गई है कैलाश मंदिर को रहस्य में बनाती है इसके जटिल सीढ़ियां और इसमें गुफाएं कैलाश मंदिर में पानी निकलने के लिए इतनी सक्रिय और तंग नालियां है |


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिनों के लिए केरल दौरे बाढ़ से प्रभावित पहले इन इलाकों में जायेगे


IREvsAFG अफगानिस्तान ने आयरलैंड पहले वनडे मैच में 29 रन से हराया



  • जो कि इंसानों द्वारा बनाना नामुमकिन सा लगता है एलोरा की गुफा में लगभग 32 मंदिर है

  • जिनमें से एक है कैलाश मंदिर जो कि ऊपर से दिखाई देता है

  • वह कैलाश मंदिर बाकी इकत्तीस मंदिर अदृश्य जो कि ऊपर से दिखाई नहीं देते

  • कैलाश मंदिर को विश्व विरासत स्थल का दर्जा प्राप्त है

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के