aapkikhabar aapkikhabar

Pain killer का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है घातक



Pain killer का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है घातक

Pain killer

जरूरत से ज्यादा Pain killer लेना हेल्थ क लिए घातक हो सकता हैं। 


डेस्क-सामान्य Pain killer दवाई डाइक्लोफेनेक का इस्तेमाल दिल का दौरा और आघात जैसी हृदय संबंधी प्रमुख बीमारियों के जोखिम को बढ़ा सकता है|


बीएमजे में प्रकाशित  अध्ययन में डाइक्लोफेनेक के उपयोग की तुलना कोई भी दवा का प्रयोग नहीं करने, पैरासिटामोल तथा अन्य पारंपरिक दवा निवारक दवाओं से करने के साथ की गई है|


पीरियड्स में पेट दर्द दूर करने के जाने क्या है घरेलू उपाय


Pain killer के पैकेट पर हो जोखिम का उल्लेख



  • डेनमार्क स्थित आरहुस विश्वविद्यालय अस्पताल के शोधकर्ताओं ने बताया कि डाइक्लोफेनेक सामान्य बिक्री के लिए उपलब्ध नहीं होनी चाहिए और अगर यह बिकती है, तो उसके पैकेट के आगे के भाग पर इसके संभावित जोखिम का विस्तारपूर्वक उल्लेख किया जाना चाहिए|

  • डाइक्लोफेनेक एक पारंपरिक नॉन-स्टेरॉयडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग (एनएसएआईडी) होता है, जिसका इस्तेमाल दुनियाभर में बड़े पैमाने पर दर्द और सूजन के निवारण के लिए किया जाता है|

  • इस शोध में डाइक्लोफेनेक का इस्तेमाल शुरू करने वाले लोगों में हृदय रोग संबंधी जोखिम की तुलना अन्य एनएसएआईडी दवाइयों और पैरासिटामोल के इस्तेमाल करने वालों से की गई है|


Heartmat-3 है बेहतर ऑप्शन गंभीर हृदय रोगों के मरीज के लिए


जाने कैसे बरतें सावधानियां



  • जब तक हो सके, दर्द सहन कर लें।

  • पेनकिलर का इस्तेमाल मजबूरी में ही करें।

  • पेनकिलर लेने की वजह से अगर पेट दर्द होता है, तो सबसे पहले उस पेनकिलर का इस्तेमाल बंद कर दें।

  • एक एंटैसिड (डाइजीन, जिनटैक आदि) लें और डॉक्टर से सलाह लें।

  • कोई भी पेनकिलर बेस्ट नहीं है, सिर्फ किसी का असर कम साइड इफेक्ट के साथ ज्यादा हो सकता है।

  • दिल, बीपी, डायबीटीज और किडनी के मरीजों को बिना डॉक्टर की सलाह के कोई पेनकिलर नहीं लेना चाहिए।

  • खाली पेट बिल्कुल न लें। कई तरह के पेनकिलर्स को खाली पेट लेने से किडनी, लिवर और पेट को नुकसान हो सकता है।

  • इबूप्रोफेन और एस्पिरिन जैसी दर्द निवारक गोलियों का सेवन अनियमित ह्वदय गति का कारण बन सकता हैं।

  • इन गोलियों के सेवन से दिल की धडकन के अनियमित होने का खतरा 40 प्रतिशत तक बढ जाता है।

  • जरूरत से ज्यादा लेने पर Pain killer घातक हो सकती हैं।

  • कहा जाता है कि एक साल तक पेनकिलर्स को रोज इस्तेमाल किया जाए, तो ये बेहद नुकसानदायक हो सकती हैं।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के