aapkikhabar aapkikhabar

SC / ST Act के विरोध में लामबन्द हुए सवर्ण , मोदी सरकार को दी काले कानून को हटाने की चेतावनी



SC / ST Act के विरोध में लामबन्द हुए सवर्ण , मोदी सरकार को दी काले कानून को हटाने की चेतावनी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

सवर्ण समाज के लोगों का गुस्सा केंद्र में सत्तासीन मोदी सरकार पर भी निकला ।
बाराबंकी- बाराबंकी में आज सवर्ण समाज के लोग सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन करने लगे और सरकार के विरोध में नारेबाजी करने लगे । इससे यह स्पष्ट हो गया कि भारत बन्द में धीरे - धीरे ही सही मगर सवर्ण लामबन्द हो रहे है ।


नरेन्द्र मोदी सरकार को दी  चेतावनी 


कार्यक्रम में शामिल हो रहे लोग इसे ब्राम्हणों सहित पूरे सवर्ण समाज के लिए काले कानून की संज्ञा दे रहे है । सवर्ण समाज के लोग इतने गुस्से में है कि मोदी सरकार को भी चेतावनी देते हुए कह रहे है कि क्या सवर्णों को वोटों की मशीन समझा जा रहा है । चेतावनी भरे लहजे में आयोजक कह रहे है कि दिल्ली में सत्तासीन मोदी सरकार इसे तत्काल वापस ले । कुछ दिनों पहले दलित आन्दोलन के तहत दलितों ने बड़ा आंदोलन किया था मगर आज सवर्ण समाज आंदोलन में तो है ही गुस्से में भी है ।


काले कानून को वापस लेने को कहा सवर्ण समाज ने 



  • बाराबंकी मुख्यालय के पारिजात लान में आज राष्ट्रीय हिन्दू एक्शन कमेटी और राष्ट्रीय ब्राम्हण युवजन सभा के तत्वाधान में सवर्ण आज इकट्ठा हुए और पैदल मार्च कर प्रदर्शन किया ।

  • सवर्णों के इस आन्दोलन को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी अपनी चाक - चौबन्द व्यवस्था दिखाई दी और सवर्णों द्वारा फूंका जा रहे पुतले को छीन कर हटा दिया ।

  • दरअसल यह सवर्ण जाति के लोग देश में लागू किया गया एससी /एसटी एक्ट के विरोध में यह प्रदर्शन कर रहे है । सवर्ण समाज के लोगों का गुस्सा केंद्र में सत्तासीन मोदी सरकार पर भी निकला ।

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चेतावनी देते हुए इस काले कानून को वापस लेने को कहा ।


Rupee में हुई सबसे बड़ी गिरावट, तेल व जरूरी सामान हो सकते है महगें



  • इस दौरान सवर्ण समाज के लोगों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करने के साथ ही उत्तर प्रदेश की बहराइच से भाजपा सांसद सावित्री बाई फूले का पुतला भी दहन किया मगर पुलिस ने इनके नेताओं से पुतला छीन लिया ।

  • इस दौरान सवर्ण नेताओं ने कहा कि आज़ादी से आज तक इस देश के लिए सबसे ज्यादा बलिदान सवर्णों ने दिया है , सबसे ज्यादा टैक्स सवर्ण भरते है , सबसे ज्यादा वोट भाजपा को देते है मगर फिर भी उनकी सांसद सावित्री बाई फुले द्वारा उनके समाज को कुत्ता कहा जाता है और भाजपा इस काले कानून को हम पर थोप देती है क्या हम वोटों की मशीन है ।

  • हमे भी ऐसे कानून से कष्ट होता है , हमारी भावनाएं भी आहत होती है |

  • इस लिए इस काले कानून को तुरन्त वापस लिया जाए और सवर्ण आयोग का गठन किया जाए ।

  • जिससे हमारी भी आवाज बुलन्द हो सके हमारा भी कोई सुनने वाला हो सके ।


Health के साथ -साथ आपकी Skin problem को दूर करता है दही


सावित्री बाई फूले का पुतला फूंकने के सवाल पर सवर्ण नेताओं ने कहा कि इस सांसद ने सवर्ण समाज के लोगों को कुत्ता कहा है जो बर्दास्त करने योग्य नही है क्या सिर्फ दलित ही इस देश में रहते है , क्या सिर्फ उनकी ही भावनाएं आहत होती है । इसी लिए ऐसी भाजपा सांसद का सार्वजनिक रूप से पुतला दहन किया गया है ।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के