aapkikhabar aapkikhabar

भगवान सूर्य देव क्या करते है सात घोड़ों सवारी जानिए



aapkikhabar
+3

इन घोड़ों की लगाम अरुण देव के हाथ होती है


डेस्क-हिन्दू धर्म में देवी-देवताओं तथा उनसे जुड़ी कहानियों का इतिहास काफी बड़ा है या यूं कहें कि कभी ना खत्म होने वाला यह इतिहास आज विश्व में अपनी एक अलग ही पहचान बनाए हुए है। विभिन्न देवी-देवताओं का चित्रण, उनकी वेश-भूषा और यहां तक कि वे किस सवारी पर सवार होते थे यह तथ्य भी काफी रोचक हैं।


हिन्दू धर्म में विघ्नहर्ता गणेश जी की सवारी काफी प्यारी मानी जाती है। गणेश जी एक मूषक यानि कि चूहे पर सवार होते हैं जिसे देख हर कोई अचंभित होता है कि कैसे महज एक चूहा उनका वजन संभालता है। गणेश जी के बाद यदि किसी देवी या देवता की सवारी सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है तो वे हैं सूर्य भगवान।


Petrol और Diesel के दामो में आज फिर हुई बढ़ोतरी


INDvsWI India और West Indies का पहला अभ्यास मैच रह ड्रा



  • सूर्य भगवान सात घोड़ों द्वारा चलाए जा रहे रथ पर सवार होते हैं। सूर्य भगवान जिन्हें आदित्य, भानु और रवि भी कहा जाता है

  • वे सात विशाल एवं मजबूत घोड़ों पर सवार होते हैं।

  • इन घोड़ों की लगाम अरुण देव के हाथ होती है और स्वयं सूर्य देवता पीछे रथ पर विराजमान होते हैं।


लेकिन सूर्य देव द्वारा सात ही घोड़ों की सवारी क्यों की जाती है क्या इस सात संख्या का कोई अहम कारण है या फिर यह ब्रह्मांड, मनुष्य या सृष्टि से जुड़ी कोई खास बात बताती है। इस प्रश्न का उत्तर पौराणिक तथ्यों के साथ कुछ वैज्ञानिक पहलू से भी बंधा हुआ है।


सूर्य भगवान से जुड़ी एक और खास बात यह है कि उनके 11 भाई हैं, जिन्हें एकत्रित रूप में आदित्य भी कहा जाता है। यही कारण है कि सूर्य देव को आदित्य के नाम से भी जाना जाता है। सूर्य भगवान के अलावा 11 भाई ( अंश, आर्यमान, भाग, दक्ष, धात्री, मित्र, पुशण, सवित्र, सूर्या, वरुण, वमन, ) सभी कश्यप तथा अदिति की संतान हैं।


Under-19 AsiaCup INDvsUAE भारत से संयुक्त अरब अमीरात को 227 रनों से हराया



  • पौराणिक इतिहास के अनुसार कश्यप तथा अदिति की 8 या 9 संतानें बताई जाती हैं

  • लेकिन बाद में यह संख्या 12 बताई गई। इन 12 संतानों की एक बात खास है

  • वो यह कि सूर्य देव तथा उनके भाई मिलकर वर्ष के 12 माह के समान हैं।

  • यानी कि यह सभी भाई वर्ष के 12 महीनों को दर्शाते हैं।

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के