aapkikhabar aapkikhabar

क्यों मनाई जाती है धनतेरस 2018 जानिए



aapkikhabar
+4

धनतेरस 2018 जब प्रकट हुए थे


डेस्क-कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन भगवान धन्वन्तरि का जन्म हुआ था इसलिए इस तिथि को धनतेरस 2018 धनत्रयोदशी के नाम से जाना जाता है। जैन आगम में धनतेरस को 'धन्य तेरस' या धनतेरस 2018 भी कहते हैं।


भगवान महावीर इस दिन तीसरे और चौथे ध्यान में जाने के लिये योग निरोध के लिये चले गये थे। तीन दिन के ध्यान के बाद योग निरोध करते हुये दीपावली के दिन निर्वाण को प्राप्त हुये। तभी से यह दिन धनतेरस 2018 के नाम से प्रसिद्ध हुआ।


इसे भी पढ़े-INDvWI Team India ने पहले T20 मैच में West Indies को 5 विकेट से हराया 


इसे भी पढ़े-धनदायक श्री कुबेर उपासना विधि जानिए


रीति रिवाज


धनतेरस 2018 जब प्रकट हुए थे तो उनके हाथो में अमृत से भरा कलश था। भगवान धन्वन्तरि चूंकि कलश लेकर प्रकट हुए थे इसलिए ही इस अवसर पर बर्तन खरीदने की परम्परा है। कहीं कहीं लोकमान्यता के अनुसार यह भी कहा जाता है



  • कि इस दिन धन (वस्तु) खरीदने से उसमें तेरह गुणा वृद्धि होती है।

  • इस अवसर पर लोग धनिया के बीज खरीद कर भी घर में रखते हैं।

  • दीपावली के बाद इन बीजों को लोग अपने बाग-बगीचों में या खेतों में बोते हैं।

पिछली स्लाइड     अगली स्लाइड


सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के