aapkikhabar aapkikhabar

एक मासूम को गाँव के लोगों ने मिल कर दी ऐसी सजा जिससे कि उसका पाप धुल सके



एक मासूम को गाँव के लोगों ने मिल कर दी ऐसी सजा जिससे कि उसका पाप धुल सके

तुला दान

सरकार बुलेट ट्रेन की कर रही बात , वहीं ग्रामीण अंचलों में आज भी रूढ़िवादी अंधविश्वास है  कायम


अंधविश्वास में बेटे पर हत्यारी के पाप धोने के लिए किया तुलादान


गोण्डा । उत्तर प्रदेश मे गोण्डा जिले के इटियाथोक थानाक्षेत्र के गांधी चबूतरा गांव के पास रूढ़िवादिता , आडम्बर व अंधविश्वास की जीती जागती मिसाल दिखी जब एक दलित परिवार के मासूम द्वारा आवेश मे ईंट से प्रहार करने की सजा उसे स्वयं के बराबर तुला दान कर भोगने पर गांव वाले मजबूर करते नजर आये l


क्या कहता है पीड़ित का परिवार


पीड़ित परिवार के गृहस्वामी अशोक ने बताया कि उसका मासूम दस वर्षीय बेटा रोहित अपने घर शनिवार को पालतू बछिया को चारा खिला रहा था कि अचानक बछिया ने उसे सींग मार दिया जिससे आवेश मे आकर रोहित ने एक ईट के टुकड़े से उसपर प्रहार किया और मौके पर ही बछिया की मृत्यु हो गयी l


गांव वालों के बार-बार रोकने के कारण कराया तुलादान


इसकी उलेहना गांव वालों के बार बार देने पर अशोक ने गांधी चबूतरा के पास स्नान कराकर सड़क के किनारे लगे पेड़ से लटका कर बेटे के बराबर मिट्टी , पंचमेली अनाज व अन्य सामग्री का तुलादान किया l और वहां मौजूद लोंगो के पैर छुआकर अनजाने में की गयी गलती के लिये क्षमा मंगवायी l


साईं फकीर चंदू द्वारा कराया जाता है दान


गांव की परम्परा बताते हुये गंगापुर के रहने वाले साई फकीर चांदबाबू ने बताया कि हत्यारी लगने के बाद पश्च्याताप के लिये उसका परिवार कई पीढियो से तुलादान कराकर पाप से मुक्त कर देता है lहालांकि दान सामग्री साई फकीर का परिवार स्वयं ले लेता है lसवाल इस बात का है कि जहां एक ओर सरकार बुलेट की बात कर रही है वहीँ दूसरी ओर ग्रामीण अंचलों में आज भी रूढ़िवादी अंधविश्वास समाप्त नही हो पायी है l


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के