aapkikhabar aapkikhabar

काश पुलिस ने लिया होता समय से एक्शन तो न होता खूनखराबा



काश पुलिस ने लिया होता समय से एक्शन तो न होता खूनखराबा

बाराबांकी में मारपीट


  • पुलिस की लापरवाही से खूनी संघर्ष में बदल गया

  • दो पक्षों का मामूली विवाद,

  • जमकर चले लाठी-डंडे और पत्थर

  • एसपी ने दिए जांच के आदेश



 बाराबंकी जिले में बोरिंग को लेकर मामूली विवाद इस कदर बढ़ा कि दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। मारपीट में कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। मारपीट के इस मामले में पुलिस की भी बड़ी लापरवाही सामने आई है, क्योंकि वारदात से पहले यह लोग कोतवाली गए थे। लेकिन कोतवाली से पुलिसवालों इन्हें यह कहकर टरका दिया था कि वह लोग गांव आकर मामले में समझौता करा देंगे।



 मारपीट का यह पूरा वीडियो टिकैतनगर कोतवाली क्षेत्र के बेलखरा गांव का है। जहां बोरिंग को लेकर हुए मामूली विवाद को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। वीडियो में देखिए कैसे एक पक्ष के लोगों ने लाठी-डंडों और पत्थरों से दूसरे पक्ष पर हमला बोल दिया है। मारपीट में दोनों पक्षों के लगभग 9 लोग हुए घायल हुए। जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल के लिए भर्ती कराया गया। मारपीट को लेकर एक पक्ष का आरोप है कि दूसरा पक्ष उनकी पुश्तैनी जमीन पर अवैध कब्जा करा रहा था। जबकि दूसरे पक्ष के मुताबिक जमीन उनकी है।



वहीं मारपीट के बाद एक पक्ष के पीड़ितों ने बताया कि वह लोग मामले को लेकर पहले कोतवाली टिकैतनगर गए थे। लेकिन कोतवाली में पुलिस ने उन्हें यह कहकर वापस भेज दिया था कि हम गांव में आकर मौके को देखते हुए दोनों लोगों में समझौता करा देंगे। लेकिन जब वह लोग गांव पहुंचे तो देखा कि दूसरे पक्ष ने विवादित जमीन पर बोरिंग कराना शुरू करा दिया था। जब हम लोगों ने रोकने की कोशिश की तो दूसरे पक्ष के लोग गाली गलौच के साथ मारपीट पर अमादा हो गए। जिसकी जानकारी हम लोगों ने डॉयल 100 को दी। लेकिन जब तक डॉयल 100 पुलिस आती, दूसरे पक्ष ने उन लोगों पर हमला बोल दिया।


- वहीं इस मामले में बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि टिकैतनगर के बेलखरा गांव में मारपीट की एक घटना हुई है। एसपी ने माना कि वारदात से पहले लोग थाने पर गए थे। पुलिस ने मामले को सुना या नहीं यह जांच का विषय है। उसी के बाद बाद दो पक्षों में काफी मारपीट हुई और करीब 9 लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने दोनों पक्षों की क्रास एफआईआर भी दर्ज की है। लेकिन पहली नजर में इस मामले में पुलिस का लापरवाही नजर आ रही है और इसकी जांच के लिए एडिश्नल एसपी को मैंने निर्देष दिए हैं। एडिश्नल एसपी की जांच रिपोर्ट के बाद दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।


रिपोर्टर, सैफ मुख्तार


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के