aapkikhabar aapkikhabar

विज्ञान हमें कहां से कहां ले आया



विज्ञान हमें कहां से कहां ले आया

विज्ञान

डेस्क-पहले :- वो कुँए का मैला कुचला पानी पीकर भी 100 वर्ष जी लेते थे


अब :- RO का शुद्ध पानी पीकर 40 वर्ष में बुढ़े हो रहे हैं


पहले :- वो घानी का मैला सा तेल खाके बुढ़ापे में भी मेहनत कर लेते थे।


अब :- हम डबल-ट्रिपल फ़िल्टर तेल खा कर जवानी में भी हाँफ जाते हैं


पहले :- वो डले वाला नमक खाके बीमार ना पड़ते थे।


अब :- हम आयोडीन युक्त खाके हाई-लो बीपी लिये पड़े हैं


इसे भी पढ़े -SLvsENG England ने Sri Lanka पर बनाई 293 रनों की बढ़त


पहले :- वो नीम-बबूल कोयला नमक से दाँत चमकाते थे और 80 वर्ष तक भी चबा चबा के खाते थे


अब :- कॉलगेट सुरक्षा वाले रोज डेंटिस्ट के चक्कर लगाते हैं


पहले :- वो नाड़ी पकड़ कर रोग बता देते थे


अब :- आज जाँचे कराने पर भी रोग नहीं जान पाते हैं


पहले :- वो 7-8 बच्चे जन्मने वाली माँ 80 वर्ष की अवस्था में भी खेत का काम करती थी।


अब :- पहले महीने से डॉक्टर की देख-रेख में रहते हैं | फिर भी बच्चे पेट फाड़ कर जन्मते हैं


इसे भी पढ़े -Gopashtami 2018 की ये कथा रात को सोने से पहले घर मे सबको सुनायें


पहले :- काले गुड़ की मिठाइयां ठोक-ठोक के खा जाते थे


अब :- खाने से पहले ही शुगर की बीमारी हो जाती है


पहले :- बुजुर्गों के भी घुटने नहीं दुखते थे


अब :- जवान भी घुटनों और कमर के दर्द से कहराता है


पहले 100w के बल्ब जलाते थे तो बिजली बिल 200 रुपये आता था


अब 9w की c.f.l में 2000 का बिल


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के