aapkikhabar aapkikhabar

एरियर भुगतान को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग व संस्था संचालक आमने सामने



एरियर भुगतान को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग व संस्था संचालक आमने सामने

बेसिक शिक्षा विभाग

विभाग से 6 माह का एकमुश्त भुगतान होने के बाद भी कस्तूरबा कार्मिकों को नहीं मिला मानदेय वृद्धि का लाभ


कस्तूरबा कार्मिकों ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर की शिकायत


बलरामपुर-शासन से बजट निर्गत होने के बाद भी कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय कार्मिकों को अभी तक बढ़ा हुआ मानदेय पूरा नसीब नहीं हो सका है ।जबकि विभाग ने संस्था संचालकों को 6 माह का मानदेय के साथ एरियर का भुगतान कर दिया है ।



जिले में 11 कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय संचालित है ।इनमें एक बेसिक शिक्षा विभाग तीन महिला सामाख्या व 7 स्वयंसेवी संस्था से संचालित है। शासन से कस्तूरबा कार्मिकों को अप्रैल 2018 से मानदेय वृद्धि के साथ भुगतान किया जाना था ।विभाग की मानें तो शासन से जारी बजट विद्यालय संचालकों को पूर्व में हीउपलब्ध कराया जा चुका है। मानदेय वृद्धि का बजट मिलने के बाद भी संस्था संचालकों ने किसी स्कूल में 2 महीने का किसी में 3 महीने का किसी में 4 महीने का व किसी में अभी तक एक भी महीने का बकाया एरियर नहीं दिया गया है। विद्यालय के शिक्षकों की मानें तो केजीबीवी नचोरा में सितंबर माह तक पुराना मानदेय दिया गया मानदेय बढ़ोतरी का लाभ अभी तक इस विद्यालय के शिक्षकों को नहीं मिल सका है केजीबीवी जंगल गांव पचपेड़वा के शिक्षकों को मात्र 4 माह का एरियर मिला है ।इस स्कूल में भी अभी तक 2 माह का एरियर भुगतान नहीं किया गया है केजीबीवी बरगदवा बिशुनपुर टांटनवा में एक भी महीने का एरियर नहीं मिला है|



केजीबीवी तुलसीपुर में सिर्फ 3 महीने का कार्मिकों को एरियर दिया गया है 3 महीने का अभी भी बाकी चल रहा है। केजीबीवी गंडास बुजुर्ग में मैं भी अभी एक भी माह का एरियर नहीं मिला है यही हाल उतरौला केजीबीवी का है यहां भी शिक्षक कार्मिकों को अभी तक एक माह का भी एरियर नहीं मिला है ।इन विद्यालयों के शिक्षकों की मानें तो बेसिक शिक्षा महकमा शासन को सितंबर माह तक शिक्षक कार्मिकों का समस्त मानदेय एरियर भुगतान करने की बात कह रहा है। लेकिन हकीकत में विभाग से शिकायत करने के बाद भी आज तक एरियर किसी स्कूल में 4 महीने किसी में 3 महीने इसी में एक भी महीने का भुगतान नहीं किया गया है। शिकायत मिलने के बाद भी विभाग द्वारा कोई कार्यवाही ना किया जाना है ।शिक्षक कार्मिकों का जानबूझकर मानसिक उत्पीड़न व शोषण करने की बात कही जा रही है। वही केजीबीवी उतरौला की वार्डन सविता शुक्ला सहित शिक्षक कार्मिकों ने संस्था सचिव व बेसिक शिक्षा कार्यालय को पत्र भेजकर एक भी माह का एरियर आज तक भुगतान ना होने की शिकायत की है उसके बाद भी शिक्षकों की समस्या जस की तस बनी हुई है।



एरियर ना मिलने पर कस्तूरबा कार्मिकों ने सीएम पोर्टल पर की शिकायत


केजीबीवी नचोरा गैसड़ी के शिक्षक अवनीश कुमार धर्मेंद्र धर्मेंद्र पांडे शेष राम साहू ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर 6 माह का बकाया एरियर भुगतान न करने की शिकायत की है। शिक्षक कार्मिकों की मानें तो बेसिक शिक्षा महकमा एरियर भुगतान करने की बात कह रहा है। वहीं अभी तक कार्मिकों को के खाते में 6 माह का एक भी रुपया एरियर के रूप में भुगतान नहीं हुआ है। शिक्षक कार्मिकों ने बकाया एरियर जल्द से जल्द भुगतान न करने पर धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है ।


 


विभाग के दावे की निकली हवा


बेसिक शिक्षा विभाग व वित्त लेखाधिकारी भले ही शासन को कस्तूरबा कार्मिकों का पूरा एरियर भुगतान करने की झूठी सूचना दे चुके हो लेकिन हकीकत यह है ।कि अभी भी जिले के कस्तूरबा विद्यालयों के कार्मिकों को सांसों से निर्गत 6 माह का एरियर सभी को नसीब नहीं हो सका है दिवाली बीतने के बाद भी एरियर का भुगतान ना होना शिक्षकों को जानबूझकर मानसिक व आर्थिक शोषण करने की बात कहना गलत नहीं होगा।



एरियर को लेकर कस्तूरबा कार्मिक करेंगे नोडल अधिकारी से शिकायत


जिले के दौरे पर गुरुवार को आ रही माध्यमिक शिक्षा सचिव व जनपदीय नोडल अधिकारी संध्या तिवारी से कस्तूरबा कार्मिक मिलकर एरियर न मिलने की शिकायत करेंगे साथ ही साथ स्कूलों में व्याप्त भ्रष्टाचार व अन्य मिता की भी शिकायत करने की बात कही है।


अधिकारी के बोल


शासन से निर्गत कस्तूरबा विद्यालय के शिक्षक कर्मचारियों का 6 माह का एक साथ एरियर भुगतान किया जा चुका है संस्था संचालकों द्वारा अब तक एरियर भुगतान न करना खेद जनक विषय है जल्द ही भुगतान न करने पर विभाग संस्था के विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई करेगा।


 


सिलाई वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के