aapkikhabar aapkikhabar

सुबोध सिंह के मौत के बाद अवशेष को उनके गाँव इटाह लाया गया



सुबोध सिंह के मौत के बाद अवशेष को उनके गाँव इटाह लाया गया

पुलिस निरीक्षक सुबोध सिंह

इटाह-पुलिस निरीक्षक सुबोध सिंह के मौत के अवशेष (जो कथित गाय वध पर विरोध करने वाले लोगों द्वारा हमला किए जाने के बाद मृत्यु हो गई) इटाह में उनके निवास में लाए |



वही एडीजी इंटेलिजेंस एसवी शिरोडकर उस स्थान पर पहुंचे जहां पुलिस निरीक्षक सुबोध कुमार ने कल क्षेत्र में कथित मवेशी वध के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों द्वारा हमला किया था |


उत्तर प्रदेश मंत्री ओपी राजभार: यह वीएचपी, बजरंग दल और आरएसएस द्वारा पूर्व योजनाबद्ध षड्यंत्र है, अब पुलिस कुछ बीजेपी सदस्यों का नाम भी दे रही है। मुस्लिम इज्तेमा समारोह के रूप में उसी दिन विरोध क्यों हुआ? यह शांति को परेशान करने का प्रयास था


 


बुलंदशहर के स्याना तहसील के गांव महाव में सोमवार सुबह गोवंश अवशेष मिलने पर पुलिस, हिंदूवादी संगठनों और ग्रामीणों में जमकर टकराव हुआ।पुलिसकर्मी सुबोध सिंह की बहन ने कहा मेरा भाई अख्लक मामले की जांच कर रहा थायही कारण है कि वह मारे गए, पुलिस द्वारा साजिश रची। उसे शहीद घोषित किया जाना चाहिए और स्मारक बनाया जाना चाहिए। हम पैसे नहीं चाहते हैं। मुख्यमंत्री केवल गाय गाय गाय कहता रहता है।



 मृत पुलिसकर्मी सुबोध कुमार सिंह के बेटे अभिषेक ने कहा था मेरे पिता चाहते थे कि मैं एक अच्छा नागरिक बनूं जो धर्म के नाम पर समाज में हिंसा को उत्तेजित नहीं करता है। आज मेरे पिता ने इस हिंदू-मुस्लिम विवाद में अपना जीवन खो दिया, कल किसके पिता अपना जीवन खो देंगे |



 


 


- प्रेम कुमार



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के