aapkikhabar aapkikhabar

जानिए सूर्य का वृश्चिक से धनु राशि में गोचर का सभी राशियों पर क्या होगा असर



जानिए सूर्य का वृश्चिक से धनु राशि में गोचर का सभी राशियों पर क्या होगा असर

सूर्य का वृश्चिक से धनु राशि में गोचर

 



सूर्य ग्रह गोचर 16 दिसंबर 2018 यानि रविवार को सुबह 9 बजकर 25 मिनट पर वृश्चिक से धनु राशि में प्रवेश कर रहे हैं और 29 दिसबंर 2018 यानि शनिवार को 11 बजकर 25 मिनट तक इसी में स्थित रहेंगे। वहीं मंगल 23 दिसंबर 2018 यानि रविवार को 1 बजकर 20 मिनट पर कुंभ से मीन राशि में प्रवेश कर रहा है।


सनातन हिन्दू धर्म शास्त्रों में सूर्य ही वह ग्रह है जो मानव जीवन को सर्वाधिक प्रभावित करता है। सभी प्रकार के ऐश्वर्य प्रदान करने वाला सरकारी नौकरी और जीवन में ऊंचाईयों तक ले जाने के लिए यही ग्रह मुख्य है।


सूर्य देव द्वारा 16 दिसंबर 2018 को वृश्चिक राशि से निकलकर धनु राशि में प्रवेश करना अर्थात इस महीने को धनुर्मास कहते हैं। कई जगह इसे मलमास के नाम से भी जाना जाता है। इस एक महीने के दौरान वैवाहिक काम रूक जाते हैं। अब ये मांगलिक काम मकर संक्रांति के बाद शुरू होंगे।


ज्योतिर्विद पण्डित दयानन्द शास्त्री ने बताया कि हिन्दू पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष मास में जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो उस संक्रांति को वृश्चिक संक्रांति कहा जाता हैं। वहीं साल 2018 के अंतिम माह दिसंबर में तीन ग्रह अपनी राशि बदलने वाले हैं। इसमें चंद्र, सूर्य और मंगल ग्रह के राशि बदलने से किन राशियों पर असर पड़ने वाला है।


दिसंबर माह में ग्रह गोचर में शेष ग्रहों की स्थिति में कोई परिवर्तन न होने के संकेत हैं। ज्योतिष के अनुसार सूर्य 16 दिसंबर 2018 को वृश्चिक से धनु राशि में प्रवेश करेगा। बुध और गुरु ग्रह वृश्चिक में प्रवेश करेगा जिसके कारण 12 राशियों में से शुक्र तुला में, शनि धनु में, राहु कर्क राशि में और केतु मकर राशि में रहेगा। उस प्रकार इन ग्रहों की स्थिति से आपकी रिशियों पर भी असर पड़ेगा।


 जानिए किन राशियों के लिए यह सूर्य ग्रह का गोचर समस्या देने वाला रहेगा और किन राशियों के लिए ये शुभ संकेत लाया है



मेष राशि
सूर्य गोचर आपके लिए सुख प्रदान करने वाला है। गोचर का यह समय शिक्षा के क्षेत्र में लगे जातकों के लिए शुभ फलदायी साबित होगा। व्यवसाय में सफलता आपको प्रसन्न रखेगी।


सूर्यदेव का यह गोचर कुल मिलाकर आपको शुभ फल देने वाला रहेगा। साथ ही राजनीति में भी सफलताएं मिलेगी। स्वास्थ्य पहले से बेहतर होगा जाएगा। इस अवधि में आपके लिए सूर्य भाग्य भाव से भ्रमण करेगा। इसके परिणाम अत्यंत शुभ होंगे। इस समय आपसी संबंधों में सुधार होगा। संबंधियों से निकटता बढ़ेगी। इस समय धर्म तथा अध्यात्म के प्रति अधिक रुझान रहेगा। धार्मिक कार्यों में भी व्यय होगा। पारिवारिक सुख-शांति रहेगी। संतान से सहयोग और प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलेगी। इस समय माणिक पहनना शुभता में वृद्धि करेगा।
उपाय--प्रत्येक रविवार को आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।



वृषभ राशि
आपसी तालमेल की कमी रहेगी। पारिवारिक मामलों में विरोध हो सकता है। अपने क्रोध और अहम पर नियंत्रण रखें। शत्रु पक्ष से सावधानी बरतना होगी। मातृपक्ष के स्वास्थ्य की चिंता रह सकती है। किसी भी कार्य में सावधानीपूर्वक निर्णय लेना होगा। नौकरीपेशा व व्यापारी वर्ग को संभलकर चलना होगा।


मिथुन राशि
दाम्पत्य जीवन में वाद-विवाद से बचना होगा। दैनिक व्यवसाय के क्षेत्र में पराक्रम द्वारा ही सफल होंगे। प्रेम संबंधों के मामलों में आपको किसी न किसी प्रकार की समस्या सामना करना पड़ सकता है। कानूनी विवाद से बचना होगा। शत्रुपक्ष पर दबदबा बना रहेगा। साझेदारी के कार्य में सावधानी रखना होगी।


कर्क राशि
सूर्यदेव का यह गोचर आपकी राशि के जातकों के लिए धर्म और अध्यात्म में रूचि रखने का साबित होगा। शिक्षा के क्षेत्र में लगे जातकों को लाभ पहुचेगा। धन लाभ होने की संभावना है। व्यवसाय सफलताएं प्राप्त करेंगे। यह समय आपके लिए उतार-चढ़ाव का साबित होगा।
भाग्य में रुकावट आ सकती है और कार्य में भी बाधा रह सकती है। शत्रुपक्ष प्रभावहीन होंगे। मामा पक्ष से कुछ विरोध का सामना करना पड़ सकता है। आपको पेट संबंधी रोग हो सकता है। खान-पान में सुधार करना होगा। कर्ज या लेन-देन के कारण खर्च बढ़ सकता है। नौकरीपेशा लाभान्वित होंगे।
उपाय--सूर्यदेव को नित्य जल अर्पित करें।।



सिंह राशि
राजनीतिज्ञों के लिए सूर्य गोचर बहुत ही शुभ है। छात्र प्रतियोगिताओं में सफलता की प्राप्ति करेंगे। वृश्चिक राशि या मेष राशि के जातक से आपको व्यवसाय में लाभ मिल सकता है। खर्चें बढ़ेंगे। यात्रा के योग बन रहे हैं। प्रेम संबंधों के मामलों में असफलता का स्वाद चखना पड़ सकता है। आपको अपने कार्य तथा व्यवहार पर नियंत्रण रखना होगा। संतान पक्ष में संभलकर चलना होगा। प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता मिलेगी। गैस संबंधित समस्या हो सकती है। सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ा-चढ़ा रहेगा। विद्यार्थी वर्ग व शिक्षा से जुड़े लोगों को लाभ मिल सकता है।
उपाय--सूर्यदेव की रोशनी में बैठकर आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।


कन्या राशि
पारिवारिक कारणों से घर से दूर जाना पड़ सकता है। नौकरी के क्षेत्र में आपका प्रभुत्व कायम रहेगा। आपके प्रभाव में वृद्धि होगी। परिवारिक जीवन सुखद ही कहा जा सकता है। इस समय आपको आर्थिक लाभ के अवसर प्राप्त होंगे। जमीन संबंधित कार्यों में सफलता के अवसर हैं। माता के स्वास्थ्य के प्रति सजग रहें। शत्रुपक्ष पर प्रभाव बना रहेगा।


तुला राशि
पराक्रम अत्यधिक बढा-चढ़ा रहेगा। आपकी मेहनत और प्रयासों की प्रशंसा होगी। भाई-बंधुओं और मित्रगण का सहयोग मिलेगा। भाग्य का साथ मिलने से आपके कई कार्य बनेंगे। सहयोगियों का भरपूर सहयोग मिलेगा। इस समय आपका प्रभाव लोगों पर अधिक पड़ेगा। इस समय रचनात्मक कार्यों से जुड़े लोग लाभान्वित होंगे। आपके प्रयास ही आपकी सफलता का कारक बनेंगे।


वृश्चिक राशि
वृश्चिक राशि वाले जातकों के लिए सूर्य गोचर चतुर्दिक विकास का साबित होगा। क्योंकि सू्र्यदेव आपकी राशि में ही गोचर कर प्रवेश कर रहे हैं। इसलिए यह समय आपको सभी क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कराने वाला रहेगा। जमीन संबंधित विवादों का समाधान होगा। कोई बिगड़ा काम इस गोचर की अवधि में बनेगा। साथ ही कई समय से रूका हुआ धन आसानी से मिलेगा।
आर्थिक लाभ मिलेगा, लेकिन बचत के योग कम ही हैं। इस समय किसी प्रकार की मानसिक समास्या आपको परेशान कर सकती है। नौकरीपेशा के लिए समय उत्तम है। राजकीय कार्य संपन्न होंगे। व्यापार-व्यवसाय में प्रगति होगी। पिता का सहयोग लेकर चलें।
उपाय--सूर्यदेव को तांबे के पात्र द्वारा नित्य जल चढ़ाएं।



धनु राशि
किसी विशेष पद की प्राप्ति हो सकती है। कार्यक्षेत्र में अत्यधिक व्यस्तता रहेगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखना होगा। किसी कार्य में पिता का सहयोग प्राप्त होगा। पुरानी वस्तु से लाभ प्राप्त हो सकता है। मान-प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। सरकारी क्षेत्रों से जुड़े लोगों को प्रगति के अवसर मिलेंगे।


मकर राशि
सावधानी रखना होगी। यात्रा संभलकर करें। आपको अपने कार्यों पर नियंत्रण रखना होगा। अत्यधिक भागदौड़ होने से शारीरिक थकावट अधिक होगी। प्रत्येक कार्य के लिए आपको अधिक प्रयत्न करना होगा। शत्रुपक्ष प्रभावहीन होंगे।
उपाय-- गोचर की समयावधि में इस राशि के जातक लाल और नारंगी रंग के वस्त्र अधिक पहनें।


कुंभ राशि
गोचर शुभ फल देगा। घर या परिवार में कोई मांगलिक कार्य हो सकता है। पिता या बड़े भाई से लाभ प्राप्त होने के योग हैं। यात्रा के योग बन सकते हैं। धनलाभ के योग भी प्रबल हैं। इस समयावधि में अधिकारियों का सहयोग प्राप्त होगा। नौकरी के लिए इच्छुक व्यक्ति के प्रयास सफल हो सकते हैं। ससुराल पक्ष से लाभ या प्रसन्नता प्राप्त हो सकती है।


मीन राशि
समय आपके कार्यों के लिए उत्तम रहेगा। किसी उच्च पद की प्राप्ति हो सकती है। इस समय कार्य की अधिकता होने से थकान महसूस करेंगे। अधिकारी वर्ग कार्यों को लेकर प्रसन्न रहेंगे। घर-परिवार के सुखों में वृद्धि होगी। आप अपनी प्रतिभा को विस्तार देंगे।
सूर्य का वृश्चिक राशि में गोचर आपके लिए प्रगति, सुख और सौभाग्य लेकर आया है। आपके कई दिनों से रुके कार्य पूर्ण होंगे। लेकिन आंखों का कोई रोग आपको परेशान कर सकता है ।सूर्य के इस गोचर के कारण संतान को सफलताएं हासिल होंगी। धार्मिक क्षेत्रों में रूचि बढ़ेगी। धार्मिक यात्राएं भी हो सकती है। प्रतिदिन उगते सूर्य को जल में गुड़ डालकर चढ़ाएं।

इन सरल उपाय से होगा सभी 12 राशियों को लाभ


सुबह उदय होते सूर्य को दूध-मिश्री मिले जल का अर्घ्य सूर्य को दें।
नमक का सेवन न के बराबर करें।
ॐ घृणि सूर्य: आदित्य:या ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय सहस्र किरणाय मनोवांछित फलं देहि देहि स्वाहा…
मंत्र का जाप 108 बार करें।


पिता का आशीर्वाद लेकर कार्य का शुभारंभ करें। इस तरह के सरल उपायों द्वारा सूर्य के अनिष्ट प्रभावों से बचा जा सकता है।


ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के