aapkikhabar aapkikhabar

सर्दियों में Heart का ख्याल रखने के  अपनाए ये तरीके मिलेगा फायदा



सर्दियों में Heart का ख्याल रखने के  अपनाए ये तरीके मिलेगा फायदा

Heart

 


सूरज की रोशनी से मिलने वाला विटामिन-D, हृदय में स्कार टिशूज को बनने से रोकता है,जो Heart के लिए फायदेमंद होता है|


डेस्क-घर के अंदर Heart को सेहतमंद रखने वाली एक्सरसाइज करें, नमक और पानी की मात्रा कम कर दें, क्योंकि पसीने में यह नहीं निकलता है. रक्तचाप की जांच कराते रहें, ठंड की परेशानियों जैसे-कफ, कोल्ड, फ्लू आदि से खुद को बचाए रखें और जब आप घर पर हों तो धूप लेकर या फिर गर्म पानी की बोतल से खुद को गर्म रखें|


ठंड के मौसम में तापमान कम हो जाता है, जिससे ब्लड वेसल्स सिकुड़ जाते हैं, जिससे शरीर में खून का संचार अवरोधित होता है. इससे हृदय तक ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है, जिसका अर्थ है कि हृदय को शरीर में खून और ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए अतिरिक्त श्रम करना पड़ता है|


सर्दियों में Heart का ख्याल रखने के  अपनाए ये तरीके


उच्च रक्तचाप


ठंड के मौसम में शारीरिक कार्यप्रणाली पर प्रभाव पड़ सकता है, जैसे सिम्पैथिक नर्वस सिस्टम सक्रिय हो सकता है और कैटीकोलामाइन हॉर्मेन का स्राव हो सकता है. इसकी वजह से हृदय गति के बढ़ने के साथ रक्तचाप उच्च हो सकता है और रक्त वाहिकाओं की प्रतिक्रिया कम हो सकती है, जिससे ह्दय को अतिरिक्त काम करना पड़ सकता है|


वायु प्रदूषण


ठंडा मौसम, धुंध और प्रदूषक जमीन के और करीब आकर बैठ जाते हैं, जिससे छाती में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है और सांस लेने में परेशानी पैदा हो जाती है. आमतौर पर हार्ट फेल मरीज सांस लेने में तकलीफ का अनुभव करते हैं और प्रदूषक उन लक्षणों को और भी गंभीर बना सकते हैं, जिसकी वजह से गंभीर मामलो में अस्पताल में भर्ती कराना पड़ सकता है.


कम पसीना निकलना


कम तापमान की वजह से पसीना निकलना कम हो जाता है. इसके परिणामस्वरूप बॉडी अतिरिक्त पानी को नहीं निकाल पाता है और इसकी वजह से फेफड़ों में पानी जमा हो सकता है, इससे हार्ट फेलियर मरीजों में ह्दय की कार्यप्रणाली पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है|


विटामिन-D की कमी


सूरज की रोशनी से मिलने वाला विटामिन-D, हृदय में स्कार टिशूज को बनने से रोकता है, जिससे हार्ट अटैक के बाद, हार्ट फेल में बचाव होता है. सर्दियों के मौसम में सही मात्रा में धूप नहीं मिलने से, विटामिन-D के स्तर को कम कर देता है, जिससे हार्ट फेल का खतरा बढ़ जाता है.


अगर आप भी Earphones का करते हैं ज्यादा इस्तेमाल तो हो जाये अलर्ट


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के