aapkikhabar aapkikhabar

फारूक अब्दुल्ला ने कहा भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं बल्कि पूरी दुनिया के है



फारूक अब्दुल्ला ने कहा भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं बल्कि पूरी दुनिया के है

फारूक अब्दुल्ला

डेस्क-फारूक अब्दुल्ला ने कहा इस (अयोध्या) मुद्दे पर चर्चा की जानी चाहिए और लोगों के बीच की तालिका को सुलझाया जाना चाहिए। मुद्दे को कोर्ट में क्यों घसीटा? मुझे यकीन है कि इसे बातचीत के जरिए हल किया जा सकता है। भगवान राम सिर्फ हिंदुओं के नहीं बल्कि पूरी दुनिया के हैं।भगवान राम से कोई बात नहीं है, न हो रहा है। कोशिष करनि चहिये सुलझने की और बन के। जस दिन तुम हो जायगा मुख्य भई इक पथर लागे जानोंगा। जलधि समाधन होन चहिये



 हम आप को बता दे कि इससे पहले अयोध्या मामले राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होनी थी लेकिन यह अब सुनवाई 10 जनवरी को होगी |


भारत के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अगुवाई वाली पीठ ने 60 सेकंड की सुनवाई में तारीख की घोषणा की, जिसमें दोनों पक्षों की ओर से कोई तर्क नहीं देखा गया।



इससे पहले अदालत ने पिछले साल 29 अक्टूबर को कहा था कि यह मामला जनवरी के प्रथम सप्ताह में उचित पीठ के समक्ष सूचीबद्ध होगा जो इसकी सुनवाई का कार्यक्रम निर्धारित करेगी। बाद में अखिल भारत हिन्दू महासभा ने एक अर्जी दायर कर सुनवाई की तारीख पहले करने का अनुरोध किया था परंतु न्यायालय ने ऐसा करने से इंकार कर दिया था। न्यायालय ने कहा था कि 29 अक्टूबर को ही इस मामले की सुनवाई के बारे में आदेश पारित किया जा चुका है। हिन्दू महासभा इस मामले में मूल वादकारियों में से एक एम सिद्दीक के वारिसों द्वारा दायर अपील में एक प्रतिवादी है।


- प्रेम कुमार



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के