aapkikhabar aapkikhabar

भ्रूण हत्या रोकने आगे आया बाराबंकी के एसपी का परिवार



भ्रूण हत्या रोकने आगे आया बाराबंकी के एसपी का परिवार

कृति सिंह

बाराबंकी-कन्याभ्रूण हत्या पर सरकार अक्सर जागरूकता अभियान चला कर लोगों को जागरूक करती रहती है , इसके लिए तमाम तरह के टीवी विज्ञापन ,अखबार विज्ञापन और जागरूकता पोस्टर लगवाना सरकार का आये दिन का काम हो गया है | मगर इस बार बाराबंकी के अधिकारीयों का कन्याभ्रूण हत्या रोकने के लिए एक नया रूप सामने आया है | इस अभियान की अगुवाई कर रही हैं बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक की पत्नी | पुलिस अधीक्षक की पत्नी का यह काम बाकी अधिकारीयों के लिए एक उदहारण साबित हो सकता है |


तस्वीरों में दिखाई दे रही गर्भवती महिलाएं किसी सरकारी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए नहीं आयी हैं बल्कि यह सभी महिलाएं बाराबंकी पुलिस अधीक्षक डकटर सतीश कुमार की पत्नी कृति सिंह के बुलाये पर आयी है | पुलिस अधीक्षक की पत्नी इन महिलाओं को कन्याभ्रूण हत्या न होने के लिए जागरूक करने के लिए बुलाया है | इसके लिए इन महिलाओं को पुलिस अधीक्षक की पत्नी ने एक जागरूकता पत्रिका , एक कम्बल देकर एक सांकेतिक गोद भराई भी की | पुलिस अधीक्षक की पत्नी के कार्यों से प्रभावित होकर बाराबंकी के उपजिलाधिकारी (आइएएस ) अजय द्विवेदी भी कार्यक्रम में शामिल होने आये | इन दोनों ने उपस्थित महिलाओं को कन्याभ्रूण हत्या न करने की शपथ भी दिलवाई |


बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डाक्टर सतीश कुमार की पत्नी करती सिंह ने बताया कि कन्याभ्रूण हत्या समाज के लिए बड़ा अपराध है | इसी सम्बन्ध में जानकारी और जागरूकता के उद्देश्य से इन महिलाओं को आमंत्रित किया गया है | इनकी जानकारी के लिए एक पुस्तिका भी इन्हे प्रदान की गयी है जिससे उसे पढ़कर भी जानकारी हासिल कर सकें और समाज में ऐसे अपराध को रोकने में सहायता कर सकें | आमंत्रित की गयी सभी महिलाएं गर्भवती हैं इन महिलाओं की सांकेतिक गोदभराई की रस्म को भी यहाँ अदा किया गया | जिसमें कुछ उपहार भी दिए गए और गर्भ के समय काम आने वाली दवाएं भी दी गयी | इस कार्यक्रम में वह्जू बच्चे और उनके मातापिता भी शामिल होने आये जिन्हे बालश्रम से मुक्त करवाया गया है |


बाराबंकी के उपजिलाधिकारी ( आइएएस ) अजय द्विवेदी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक की पत्नी करती सिंह ने इन गर्भवती महिलाओं को बुलाकर उन्हें जो जागरूक करने का काम किया है वह बहुत ही सराहनीय है | इन महिलाओं को यह बताया गया है कि वह कन्याभ्रूण हत्या को बढ़ावा देने वालों से सावधान रहे और इस अपराध को अपने आसपास न होने दें | इसके लिए वह अन्य महिलाओं को भी प्रेरित करें | यह काम निश्चित ही एक सराहनीय काम है जो सरकार के अभियान को बढ़ावा देने में भी कारगर सिद्ध होगा |


रिपोर्टर, सैफ मुख्तार


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के