aapkikhabar aapkikhabar

योगी सरकार 5 हजार करोड़ रुपया कुम्भ में लगा कर रही है बर्बाद : ओम प्रकाश राजभर



योगी सरकार 5 हजार करोड़ रुपया कुम्भ में लगा कर रही है बर्बाद : ओम प्रकाश राजभर

ओम प्रकाश राजभर

सरकार विकास की बजाय मंदिर और कुम्भ की तरफ जनता का भटका रही ध्यान 24 तारीख को पार्टी करेगी बड़ा फैसला अकेले दम पर 80 सीटों पर लड़ेगी सुहेलदेव पार्टी - ओम प्रकाश राजभर ( मन्त्री उत्तर प्रदेश )



बाराबंकी -आये दिन अपनी ही सरकार और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बयान देकर सरकार की मुसीबतें बढ़ा उनके अपने मन्त्री ओम प्रकाश राजभर ने एक बार फिर सरकार की नीतियों पर आक्रामक हुए है । ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि योगी जी के पास गरीबो पर खर्च करने के लिए पैसा नही है मगर कुम्भ और मन्दिर पर खर्च करने के लिए खजाना खोल देते है । 2000 करोड़ रुपया गरीबो पर खर्च कर देते तो सबका भला हो जाता मगर गरीबो पर 2000 करोड़ खर्च नही किया 2000 करोड़ कुम्भ पर खर्च कर दिया । ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि सरकार विकास की ओर न देखकर मन्दिर और कुम्भ की तरफ जनता का ध्यान मोड़ देती है ।



बाराबंकी के जैदपुर कस्बे में आज सुभासपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में प्रदेश सरकार के मन्त्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए । राजभर ने अपने इस कार्यक्रम के दौरान अपनी ही सरकार की नीतियों को कटघरे में खड़ा किया । राजभर इस तरह बोल रहे थे कि जैसे कोई सरकार में शामिल मन्त्री नही बल्कि विपक्ष में बैठी पार्टी का नेता भाषण दे रहा हो । राजभर ने कहा कि योगी जी गोरखपुर पीठ के महंत है जहाँ 10 लाख रुपया रोज चढ़ावा आता है मगर उनका इससे पेट नही भरा तो दिल्ली में लोकसभा सदस्य बनकर चले गए । जब वहाँ भी कुछ नही हुआ तो लखनऊ के मन्दिर आ गए और मुख्यमंत्री बनकर बैठ गए । अब जब भी उनसे हम विकास की बात करते है तो कहते है कि अयोध्या में मन्दिर बन जायेगा तो विकास हो जाएगा । मन्दिर से किसी का विकास हुआ है क्या ।


ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि योगी जी इस समय कुम्भ मेला करवा रहे है । विकास की तरफ ध्यान नही दे रही , विकास से ध्यान हटाने के लिए मन्दिर और कुम्भ की बात करते है । कहते हैं कि जाओ कुम्भ नहा कर आओ । गरीबो पर खर्च करने के लिए उनके पास 2000 करोड़ रुपया नही है और कुम्भ पर 5000 करोड़ खर्च कर रुपया पानी की तरह बहा रहे हैं ।


गठबन्धन पर राजभर ने कहा कि यह देश गठबंधन से जूझ रहा है उसी क्रम में सपा बसपा का भी गठबन्धन हुआ है । राजभर ने कहा कि वह 10 प्रतिशत सवर्णों को आरक्षण पर खुश है उनकी बहुत पुरानी मांग थी कि आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाए। अब प्रदेश में अतिपिछड़ों को भी आर्थिक आरक्षण 27 प्रतिशत के बाद दिया जाना चाहिए क्योंकि उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर अतिपिछड़ों का वोट निर्णायक है तो सपा में या बसपा में भी जाता है । राजभर ने कहा कि वह 24 तारीख को अपने नेताओं की एक बड़ी बैठक बुलाएंगे और यह तय करेंगे कि 80 लोकसभा पर वह अकेले चुनाव लड़ेंगे ।





रिपोर्टर , सैफ मुख्तार


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के