aapkikhabar aapkikhabar

जिनको है यह बीमारी उन्हें heart failure की संभावना ज्यादा



जिनको है यह बीमारी उन्हें heart failure की संभावना ज्यादा

Dibitic patient

बलरामपुर। हमारे देश में मधुमेह व हृदय रोग बीमारी बड़ी तेजी से फैल रही है । यह बीमारी आजकल युवा वर्गों में अधिक पाई जा रही है। इसलिए हम एक जिम्मेदार चिकित्सक के रूप में ह्रदय रोग के उपचार के साथ साथ इस बीमारी से बचने के उपायों के प्रति लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है।


यह बात डिवाइन हार्ड हॉस्पिटल लखनऊ एवं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन बलरामपुर के संयुक्त कार्यशाला को संबोधित करते हुए डिवाइन हार्ट हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर एवं सीनियर कार्डियक सर्जन डॉ पंकज कुमार श्रीवास्तव ने कही। डॉ पंकज ने बताया इस साधारण लोगों की अपेक्षा डायबिटीज के मरीजों में 3 से 5 गुना ज्यादा हार्ट अटैक की संभावना अधिक होती है।


ऐसे में मरीज संतुलित भोजन और नियमित व्यायाम करें। डॉ पंकज ने आगे बताया हृदय रोग के कुछ लक्षण जैसे छोटी-छोटी सासे आना , धड़कने तेज हो जाना उल्टी आने का एहसास होना पसीना व चक्कर आना बहुत ज्यादा कमजोरी घबराहट सांस रुक रुक कर आना कमजोरियां भी वही महसूस करना पैरों में सूजन पेट में सूजन बच्चों का वजन ठीक ढंग से ना पड़ना फेफड़ों में बार-बार इनफेक्शन होना हार्ट की समस्या हो सकती है।


इंडियन मेडिकल एसोसिएशन बलरामपुर के सिगेट्री डॉक्टर अब्दुल कय्यूम ने कहा कि हृदय रोगों के प्रति लोगों को जागरूकता का भाव है अगर सही समय पर व्यक्ति का उपचार हो जाए तो उस व्यक्ति को इस गंभीर बीमारी से बचाया जा सकता है। डॉ प्रमोद श्रीवास्तव ने कहा अनियमित जीवनशैली की वजह से हार्ट और डायबिटीज के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इससे बचने के लिए लोगों को चीनी, चावल, तेल, मसाले का से परहेज करना चाहिए। डॉ मुकेश श्रीवास्तव ने बताया तेजी से बढ़ रही गंभीर बीमारी एक चिंता का विषय है।


इसीलिए समय-समय पर ऐसे शिविर लगा कर लोगों को जागरूक करना चाहिए। इस मौके पर डॉ प्रमोद श्रीवास्तव, डॉ राकेश श्रीवास्तव, डॉक्टर कमलेश चंद्र, परमिश वर्मा, डॉ प्रदीप डॉक्टर देवेश, डॉक्टर जुबेर, डॉक्टर नवल किशोर, डाक्टर एैफ रहमान, डॉ कमलेश, डॉक्टर एस सी गोयल डॉ एस के वर्मा सहित अन्य डॉक्टर मौजूद रहे।



रिपोर्ट - वैभव त्रिपाठी


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के