aapkikhabar aapkikhabar

किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली के बहाने कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए भरी हुंकार



किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली के बहाने कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के लिए भरी हुंकार

नौजवान स्वाभिमान रैली

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने दिया नारा, पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से



 बाराबंकी -2019 के लोकसभा चुनाव में किसान और नौजवान ही कांग्रेस का मुख्य मुद्दा रहेगा। कांग्रेस मानकर चल रही है कि प्रदेश में उसका खेवनहार किसान और नौजवान ही है। इसलिए पार्टी का पूरा फोकस उसी पर है। लोकसभा चुनाव से पहले पूरे देश के किसानों की कर्जमाफी और न्यूनतम आय गारंटी योजना का वादा करके कांग्रेस ने पूरी तरह से यह जताने की कोशिश की है कि किसानों और नौजवान का उससे बड़ा हितैषी और कोई नहीं है।



कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में आयोजित किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली करके इसका साफ संकेत दे दिया है। कांग्रेस की इस रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की। कांग्रेस की किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली में जनता को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि देश पर संकट के बादल और हमारे देश का संविधान आज खतरे में है। दो साल पुनिया के अथाह परिश्रम से 15 साल से राज करने वाली पार्टी को हमने छत्तीसगढ़ में 15 सीटों पर लाकर खड़ा कर दिया और जीत के जश्न में डूबे बगैर किसानों से किया अपना वायदा पूरा किया। इसके साथ ही स्वामीनाथन रिपोर्ट की तुलना से आगे आकर हमने छत्तीसगढ़ के किसानों के धान की खरीद की। लेकिन देश की जनता को 15 लाख देने का वादा करने वाले आज महीने के पांच सौ रुपए दे रहे हैं। केंद्र की मोदी सरकार ने आज निराश्रित और विकलांगों से भी नीचे लेकर किसानों को खड़ा कर दिया। भूपेश बघेल ने कहा कि जब इस देश का किसान संगठित होगा तभी सरकार भी किसानों के हिसाब से चलेगी।उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में अगर किसानों का कर्ज माफ हो सकता है तो पूरे देश और उत्तर प्रदेश में क्यों नहीं। भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो चौकीदार बनते थे वह तो चोर निकले। लेकिन हम गोरों से लड़ने वाले हैं और हम चोरों से डरने वाले नहीं हैं। इस दौरान भूपेश बघेल ने मंचनसे नैरा दिया पहले लड़े थे गोरों से, अब लड़ेंगे चोरों से।



रैली में जनता को संबोधित करते हुए कांग्रेस के नेता संजय सिंह ने कहा कि गुजरात मॉडल नहीं यह गुजराती मॉडल है, जहां विकास जीरो है। उन्होंने कहा कि देश की जनता मोदी सरकार की जुमलेबाजी से ऊब चुकी है और अब वह कांग्रेस पकरटी की ओर देख रही है। संजय सिंह ने कहा कि 2019 में कांग्रेस सरकार आने वाली है और राहुल गांधी देश के अगले प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। इसके साथ ही 2022 में उत्तर प्रदेश में भी कांग्रेस पार्टी सरकार बनाएगी और यहां की जनता को जुमलेबाजी से छुटकारा मिलेगी।



वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी में कहा कि भूपेश बघेल ने सुबह के सूरज का इंतजार किये बगैर छत्तीसगढ़ के किसानों का कर्ज माफ किया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के चेहरे पर साफ पढ़ा जा सकता है कि 2019 का लोकसभा चुनाव राहुल गांधी का और प्रियंका गांधी का है। प्रमोद तिवारी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि तीन रुपए प्रतिदिन देकर उसने किसानों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि जब राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे तो नागरिकों के खाते में जितना पैसा भेजेंगे और उसका नाम गारंटी होगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने दस करोड़ रोजगार के नाम पर देश में सबसे बड़ी बेरोजगारी दी है। तिवारी ने कहा कि राहुल गांधी जब प्रधानमंत्री बनेंगे तो सुबह का सूरज नही देखेंगे और उनकी सरकार आर्थिक खुशहाली ला देगी।



जीआईसी ऑडिटोरियम में आयोजित कांग्रेस की किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली में राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया, जितिन प्रसाद, तनुज पुनिया ने भी केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला। कुल मिलाकर कांग्रेस पार्टी ने अपने इस कार्यक्रम के जरिए एकतरह से जिले में लोकसभा चुनाव का आगाज कर दिया है। पुनिया छत्तीसगढ़ के चुनाव में वहां के प्रभारी भी थे। ऐसे में बघेल की ताजपोशी कराने के बाद उनको अपने जिले में लाकर उन्होंने अपने विरोधियों को जोरदार राजनीतिक संदेश दिया। पुनिया के इस कार्यक्रम पर सत्ता दल के नेताओं की भी निगाहें टिकी थीं, क्योंकि पुनिया अपने पुत्र तनुज की बाराबंकी लोकसभा चुनाव में दावेदारी पक्की मानकर चल रहे हैं। जीआईसी ऑडिटोरियम में आयोजित कांग्रेस की किसान-नौजवान स्वाभिमान रैली में राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया, प्रमोद तिवारी, जितिन प्रसाद, संजय सिंह, तनुज पुनिया समेत पार्टी के कई और भी बड़े नेता कार्यक्रम में शामिल हुए।



 
रिपोर्टर, सैफ मुख्तार


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के