aapkikhabar aapkikhabar

दिल्ली के रोहिणी में एक साल की बच्ची के साथ बलात्कार, कांग्रेस ने केजरीवाल और मोदी सरकार को घेरा



दिल्ली के रोहिणी में एक साल की बच्ची के साथ बलात्कार, कांग्रेस ने केजरीवाल और मोदी सरकार को घेरा

शर्मिष्ठा मुखर्जी

 





 

नयी दिल्ली। दिल्ली के रोहिणी इलाके अमन विहार में एक साल की बच्ची के साथ रेप का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में आरोप को धर लिया है। इस मामले को ले कर दिल्ली महिला कांग्रेस प्रकोष्ठ की अध्यक्ष श्रीमती शर्मिष्ठा मुखर्जी ने मोदी सरकार के साथ दिल्ली की केजरीवाल सरकार को भी आड़े हाथें लिया।

 

उनका कहना है कि जब दिल्ली में कांग्रेस की शीला दीक्षित की सरकार थी उस वक्त 2012 में निर्भया कांड हुआ था तब केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था कि शीला जी प्रदेश में महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ते जा रहे हैं आप की जिम्मेदारी बनती है कि उन पर नियंत्रण किया जाये अगर आप ऐसा करने में असमर्थ हैं तो मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा क्यों नहीं देतीं। आज हालात बदल गये हैं इस्तीफा मांगने वाले केजरीवाल आज दिल्ली के सीएम हैं आज भी महिलाओं और बच्चियों को हवस का शिकार बनाया जा रहा है। उनकी सुरक्षा के लिये आप की सरकार क्या कर रही है।


श्रीमती मुखर्जी ने केन्द्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि पूरे देश में क्राइम बढ़ता ही जा रहा है लेकिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर आम सभाओं में कहते हैं कहते फिर रहे हैं कि वैसे तो क्राइम पहले भी होते रहे हैं लेकिन आज हमारी सरकार ने उस पर नियंत्रण लगाने में सफलता पाई है आज बलात्कार करने वालों को एक सप्ताह के भीतर फांसी की सजा सुनायी
जा रही है। श्री मोदी जी केवल भाषण देने में ही अव्वल हैं। अगर उनके भाषण में जरा भी सच्चाई है तो एक भी ऐसे अपराधी का नाम ब्यौरा दें जिसे अदालत की ओर से सजा सुनाई सुनायी गयी है। म्हिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध की जिम्मेदारी न केवल सरकार की है बल्कि समाज की भी है। सामाजिक संस्थाओं को भी समाज को जागरूक करना चाहिये। आम आदमी पार्टी की सरकार से पहले शीला दीक्षित कांग्रेस की सरकार चला रही थी। उन्होंने कई महत्वपूर्ण सामाजिक संगठनों को संचालित किया था जो समाज में युवक युवतियों को जागरूक करने का काम करती थीं। लेकिन केजरीवाल सरकार ने आते ही उन सभी स्वैच्छिक संस्थाओं को बंद करवा दिया। इतना ही नहीं उन्होंने अपनी कोई भी ऐसी योजना नहीं लागू की जिससे सामाजिक जागरूकता फैलाई जा सके।
 

विनय गोयल 

 



 



-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के