aapkikhabar aapkikhabar

अपना अस्तित्व बचाने के लिए हुआ है सपा - बसपा गठबन्धन - अनुप्रिया पटेल



अपना अस्तित्व बचाने के लिए हुआ है सपा - बसपा गठबन्धन - अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल

बाराबंकी -2019 के लोकसभा चुनाव में मोदी को रोकने के लिए तमाम विरोधी दल अपने - अपने हिसाब से तैयारियाँ कर रहे हैं । कुछ ऐसा ही है उत्तर प्रदेश में जहाँ दो धुर विरोधी दल सपा - बसपा इस लिए साथ गठबन्धन कर सामने आए है जिससे वह नरेन्द्र मोदी को रोक सकें । इस गठबन्धन को लोग एक बड़ी सियासी घटना बता रहे हैं तो वहीं एक केंद्रीय मंत्री इसे सिर्फ इन दलों का अस्तित्व बचाने की वजह मान रहे है । केन्द्रीय मन्त्री ने कहा कि यह दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए साथ आये है इनके गठबन्धन से कुछ नया होने वाला नही है ।



बाराबंकी में आज केन्द्रीय मन्त्री अनुप्रिया पटेल पहुँची । अनुप्रिया पटेल प्रगतिशील किसान और पदमश्री सम्मान के लिए नामित राम शरण वर्मा की खेती देखने पहुँची थी । इस दौरान केन्द्रीय मन्त्री ने प्रदेश की दो प्रमुख पार्टियों सपा - बसपा के बीच हुए गठबन्धन पर निशाना साधा । हालाकि प्रदेश सरकार द्वारा उनकी पार्टी को तरजीह न दिए जाने के सवाल को वह टाल गयी और कोई जवाब नही दिया ।



केन्द्रीय मन्त्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि कुछ राजनैतिक दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए इकट्ठा हो रहे है और गठबन्धन कर रहें हैं मगर उनसे कुछ नया होने वाला नही है क्योंकि पूर्व में भी प्रदेश के अन्दर सपा - बसपा की सरकारें रही है और उसमें डकैती , हत्या , लूट और भ्रष्टाचार का बोलबाला रहा है । इस लिए इनसे कुछ नया होगा इसकी आशा नही है । केन्द्रीय मन्त्री से जब यह पूँछा गया कि प्रयागराज में प्रदेश की भाजपा सरकार ने उन्हें या अपने सहयोगी दलों को तरजीह नही दी तो इस सवाल को सुनकर अनुप्रिया पटेल बिना कुछ कहे वापस मुड़ कर गाड़ी में सवार हो गयीं ।


रिपोर्टर, सैफ मुख्तार


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के