aapkikhabar aapkikhabar

Astrology:शनिवार को इस तरह करे ShaniDev की पूजा 



Astrology:शनिवार को इस तरह करे ShaniDev की पूजा 

ShaniDev

Astrology :शनिवार को ShaniDev की पूजा करने से व्यक्ति पर से साढ़ेसाती और ढैया समाप्‍त हो जाती है|


डेस्क-प्रत्येक शनिवार को ShaniDev की पूजा का विशेष विधान होता  है|शनिदेव सूर्य देव और देवी छाया के पुत्र हैं। ऐसी मान्यता है कि इस दिन विशेष पूजा-अर्चना, हवन, उपवास से शनिदेव जल्‍दी खुश  होते हैं। 


आइये जाने इस दिन किस तरह पूजन करने से सहज क्रोधित होने वाले ये  ShaniDev रहते हैं शांत


Basant Panchami 2019 :बसंत पंचमी को माँ सररस्वती से विद्या और बुद्धि पाने के लिए करें ये उपाय



व्रत से शनिदेव प्रसन्‍न होते हैं


शनिवार को शनि देव की पूजा का विधान है। लेकिन अगर कोई इस दिन  उपवास रहता है तो शनिदेव जल्‍दी खुश होते हैं। 


शनि का प्रभाव भी खत्‍म  होता है 


नव ग्रहों में सातवें ग्रह माने जाने वाले शनिदेव से लोग सबसे ज्‍यादा डरते जरूर हैं लेकिन वह किसी का बुरा नहीं करते हैं। वह लोगों के कर्मों के हिसाब से उनके साथ न्‍याय करते हैं।  उन्‍हें न्‍यायाधीश के रूप में भी पहचाना जाता है। शनिवार को शनिदेव की पूजा करने से व्यक्ति पर से साढ़ेसाती और ढैया समाप्‍त हो जाती है। इसके अलावा कुंडली में मौजूद कमजोर शनि का प्रभाव भी खत्‍म हो जाता है। इस दिन शनिदेव की पूजा विधिविधान से पूजा करने से विशेष लाभ मिलेगा।



ऐसे करें शनि देव की पूजा


शनिवार को प्रात:काल उठकर स्‍नानादि कर शुद्ध हों। इसके बाद लकड़ी के पाटे पर एक काला कपड़ा बिछाकर उस पर शनिदेव की प्रतिमा रखें। इसके बाद उनके पाटे के सामने के दोनों कोनों में घी का दीपक जलाएं व सुपारी चढ़ाएं। फिर शनिदेव को पंचगव्य, पंचामृत, इत्र से स्नान कराएं। उन पर काले या फिर नीले रंग के फूल चढाएं। इसके बाद उनके गुलाल, सिंदूर, कुमकुम व काजल लगाए। पूजा में तेल में तली वस्तुओं का नैवेद्य समर्पित करें। इस दौरान शनि मंत्र का कम से कम एक माला जप करें।



 शनिवार को करें ये उपाय



  • आज के दिन कुछ खास उपाय भी किए जा सकते हैं।

  • जैसे सूर्योदय से पहले शरीर पर तेल मालिश करने के बाद स्नान करें। इस खास दिन पर ब्रह्मचर्य का पालन करने से लाभ होता है।

  • इस दिन कहीं यात्रा पर नहीं जाना चाहिए। गाय और कुत्तों को तेल में बनी चीजें खिलाने से विशेष लाभ होता है।

  • इस दिन शनि मंदिर में शनिदेव के साथ ही हनुमान जी के दर्शन करना शुभ होता है। इस दिन शनिदेव की आंखों में नहीं देखना चाहिए।

  • वहीं कोशिश करें कि शनिवार को सूर्य देव की पूजा न करें।
     


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के