aapkikhabar aapkikhabar

Jaya Ekadashi Vrath : आज है  जया एकादशी व्रत जाने क्या है पूजन विधि



Jaya Ekadashi Vrath : आज है  जया एकादशी व्रत जाने क्या है पूजन विधि

Jaya Ekadashi

Jaya Ekadashi Vrath :आज यानि 16 फरवरी शनिवार को जया एकादशी का व्रत किया जा रहा है। इसे रखने वालों को हर प्रकार की नीच योनि से मुक्ति मिल सकती है।



डेस्क-हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत का स्थान अत्यंत महत्वपूर्ण माना जाता है। प्रत्येक वर्ष चौबीस एकादशियां होती हैं, आैर जब भी अधिकमास या मलमास आता है तो इनकी संख्या बढ़कर 26 हो जाती है।


पौराणिक मान्यताआें के अनुसार एक बार धर्मराज युधिष्ठिर ने भगवान श्री कृष्ण से पूछा कि माघ शुक्ल एकादशी को किसकी पूजा करनी चाहिए, तथा इस एकादशी का क्या महात्मय है। इस भगवान ने उत्तर दिया कि इस एकादशी को जया एकादशी कहते हैं। यह एकादशी बहुत ही पुण्यदायी होती है। इसका व्रत करने से व्यक्ति सभी नीच योनि अर्थात भूत, प्रेत, पिशाच की योनि से मुक्त हो जाता है। 


Jaya Ekadashi पूजन विधि



  • कथा सुनकार श्री कृष्ण ने कहा कि जया एकादशी के दिन विष्णु जी की पूजा करना सर्वोत्तम है।

  • जो इस एकादशी का व्रत रखते हैं उन्हें दशमी तिथि से को एक समय सात्विक भोजन करना चाहिए।

  • इसके बाद एकादशी के दिन श्री विष्णु जी का ध्यान करके व्रत का संकल्प करें और फिर धूप, दीप, चंदन, फल, तिल, एवं पंचामृत से उनकी पूजा करें।

  • पूरे दिन व्रत रखें आैर संभव हो तो रात्रि में भी व्रत रखकर जागरण करें। अगर रात्रि में व्रत संभव न हो तो फलाहार कर सकते हैं।

  • दूसरे दिन यानि द्वादशी दान पुण्य करने के बाद ही भोजन ग्रहण करें।



HealthTips: अपने डाइट में करे शामिल इन Foods को, जानें फायदे


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के