aapkikhabar aapkikhabar

BeautyTips:खूबसूरत त्वचा पाने के लिए से अपने ब्यूटी किट में शामिल कर Glycerin



BeautyTips:खूबसूरत त्वचा पाने के लिए से अपने ब्यूटी किट में शामिल कर Glycerin

Glycerin

 


कृत्रिम टोनर की तुलना में प्राकृतिक Glycerin का टोनर के रूप में इस्तेमाल सभी तरह की त्वचा पर सूट भी करता है और असर भी।


डेस्क-Glycerin के पास आपकी स्किन से जुड़ी समस्याओं का भी हल छिपा हुआ है। ग्लिसरीन एक ऐसा यौगिक पदार्थ है जिसे प्राकृतिक उत्पादों जैसे वनस्पति तेल आदि से बनाया जाता है। भौतिक रूप से यह एक मीठा व पारदर्शी तरल पदार्थ है। खूबसूरती निखारने और त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं को दूर करने में ग्लिसरीन उपयोगी होता है।


Glycerin के इस्तेमाल से दूर होंगी स्किन से जुडी प्रॉब्लम 



रूखी त्वचा 



 ग्लिसरीन रूखी, तैलीय व सामान्य तीनों प्रकार की त्वचा पर इस्तेमााल की जा सकती है। यदि आपकी त्वचा रूखी व बेजान है, तो ग्लिसरीन आपके लिए बेहद उपयोगी है। यह शुष्क और बेजान त्वचा को सुंदर और कोमल बनाने का सबसे अच्छा और सस्ता माध्यम है। नियमित रूप से ग्लिसरीन को त्वचा पर लगाने से त्वचा की रंगत में निखार आता है और त्वचा के रोगों से भी छुटकारा मिलता है। नीबू का रस, गुलाब जल और ग्लिसरीन को बराबर मात्रा में मिलाकर इस मिश्रण से पूरे चेहरे की मालिश करें। इसे रात भर चेहरे पर लगा रहने दें और सुबह गुनगुने पानी से चेहरे को साफ कर लें। नियमित प्रयोग से त्वचा बेहद मुलायम व चमकदार हो जाएगी।


ग्लिसरीन से बनाइए मॉइस्चराइजर



ग्लिसरीन एक प्राकृतिक मॉइस्चराजर है, जो त्वचा के सूखेपन को रोकने के लिए प्रयोग किया जाता है। दरअसल, ग्लिसरीन त्वचा में नमी और पानी के स्तर को बनाए रखने में मदद करता है। ग्लिसरीन का मॉइस्चराइजर बनाने के लिए एक बोतल में गुलाब जल व ग्लिसरीन भरकर रखें और इसे अपने पूरे शरीर पर बॉडी लोशन की तरह लगाएं।


मुहांसों के लिए 



तैलीय त्वचा वालों को मुहांसे होना एक आम समस्या है। स्थायी रूप से इस समस्या का समाधान तलाशने में कॉस्मेटिक उत्पादों की बजाय प्राकृतिक उपचार ही कारगर साबित होते हैं। एंटी-बैक्टीरियल गुणों के साथ ग्लिसरीन न केवल त्वचा को साफ करता है, बल्कि मुंहासे का इलाज भी करता है। इसके लिए नीबू का रस, ग्लिसरीन और गुलाब जल को मुहांसों का उपचार
तैलीय त्वचा वालों को मुहांसे होना एक आम समस्या है। स्थायी रूप से इस समस्या का समाधान तलाशने में कॉस्मेटिक उत्पादों की बजाय प्राकृतिक उपचार ही कारगर साबित होते हैं। एंटी-बैक्टीरियल गुणों के साथ ग्लिसरीन न केवल त्वचा को साफ करता है, बल्कि मुंहासे का इलाज भी करता है। इसके लिए नीबू का रस, ग्लिसरीन और गुलाब जल को मिलाकर नियमित रूप से चेहरे पर लगाएं। मुहांसों की समस्या जड़ से खत्म होगी।


टोनर के रूप में ग्लिसरीन


 कृत्रिम टोनर की तुलना में प्राकृतिक ग्लिसरीन का टोनर के रूप में इस्तेमाल सभी तरह की त्वचा पर सूट भी करता है और असर भी। ग्लिसरीन का टोनर बनाने के लिए ग्लिसरीन के साथ सेब के सिरके को मिलाएं और अपने पूरी तरह से साफ चेहरे पर इस मिश्रण को टोनर के रूप में लगायें। इसे अपने चेहरे पर लगा रहने दें। इसे हटाने या पानी से धोने की कोई जरूरत नहीं।


 


ग्लिसरीन का ये भी हैं इस्तेमाल 



  • होंठों को नरम बनाने के लिए ग्लिसरीन को प्रतिदिन इस्तेमाल करना चाहिए।

  • यह होंठों को जरूरी नमी देकर त्वचा के छिलने और होंठों से रक्तस्राव जैसी समस्याओं को खत्म करता है।

  • शहद और ग्लिसरीन के मिश्रण को होंठों पर लगाएं। सूखने के बाद साफ कपड़े से होंठों को पोंछ लें।

  • मुल्तानी मिट्टी, बादाम पाउडर व ग्लिसरीन का पेस्ट तैयार करें और उसे ब्लैकहेड्स व व्हाइटहेड्स के ऊपर लगाएं।

  • आधे घंटे बाद गीले कपड़े से साफ कर लें।

  • ग्लिसरीन डैमेज्ड और रूखे बालों को जानदार व चमकदार बनाती है, साथ ही बालों के टूटने की समस्या से भी निजात दिलाती है।


 


 


BeautyTips:अगर आप भी चाहते है घनी और लम्बी पलके तो अपनाए ये घरेलु टिप्स


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के