aapkikhabar aapkikhabar

मैं एक मां हूँ निर्दोष हूँ ,मुझे फंसाया गया



 मैं एक मां हूँ निर्दोष हूँ ,मुझे फंसाया गया

मृदुला आनंद पुलिस की गिरफ्त में


  • पुलिस की गिरफ्त में आते ही प्लीज हेल्प कहने लगी मृदुला आनंद 

  •  शिखर हत्याकांड मामला,

  • पूर्व विधायक की पत्‍नी और शिक्षा विभाग की अधिकारी मृदुला आनंद गिरफ्तार

  • आरोपी ने खुद को बताया निर्दोष


बाराबंकी- चार साल पहले बाराबंकी में हुए शिखर श्रीवास्तव हत्याकांड में मुख्य आरोपी पचास हजार की इनामिया एडी बेसिक मृदुला आनंद आखिरकार पुलिस के हाथ लग गई। मृदुला आनंद के पति पूर्व विधायक डॉ विजय कुमार पहले से जेल में हैं।



 मामला बाराबंकी के बदोसराय थाना क्षेत्र से जुड़ा हैं। जहां चार साल पहले 20 जनवरी 2015 की सुबह बरदरी के पास एक शव मिला था। जिसकी पहचान बहराइच जिले के निवासी कांग्रेस नेता के बेटे शिखर श्रीवास्तव के रूप में हुई थी। मृतक शिखर श्रीवास्तव के पिता ने उसी दिन थाना बदोसराय में तत्कालीन बसपा विधायक विजय कुमार और उनकी शिक्षाधिकारी पत्नी मृदुला आनंद पर मुकदमा दर्ज करवाया था। चार साल बीतने के बाद मामले में पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला। इस मामले में हालही में हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने सख्त रुख अपनाया। जिसके बाद पहले पुलिस ने आरोपी डॉक्टर विजय को गिरफ्तार किया और अब इनकी पत्नी भी पुलिस के हत्थे चढ़ गई हैं।


 वहीं गिरफ्तारी के बाद इस हत्याकांड की आरोपी मृदुला आनंद ने मदद की अपील करते हुए कहा कि मैं निर्दोश हूं, मुझे फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मुझे फंसाया जा रहा है, मेरा इस हत्याकांड से कोई लेनादेना नहीं है।- वहीं इस मामले में बाराबंकी के अपर पुलिस अधीक्षक आर.एस. गौतम ने बताया कि शिखर श्रीवास्तव हत्याकांड में मुख्य आरोपी मृदुला आनंद को पुलिस ने महादेवा के पास से गिरफ्तार कर लिया है। यह वहां दर्शन करने के लिए आई थीं। इनको न्यायालय में पेश करने की तैयारी हो रही है, जहां से उन्हें जेल भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि इनके पति और पूर्व विधायक डॉ विजय कुमार पहले से जेल में हैं।


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के