aapkikhabar aapkikhabar

एक सीएम ने ही कर दिया खुलासा जानिए क्यों हुआ सपा -बसपा का गठबंधन



एक सीएम ने ही कर दिया खुलासा जानिए क्यों हुआ सपा -बसपा का गठबंधन

छत्तीसगढ़ सीएम बघेल

शांति की खोज में आये छत्तीसगढ़ के सीएम ने राजनीतिक बयान देते हुए राहुल गांधी को मोदी का विकल्प बताया


छत्तीसगढ़ से सीएम भूपेश बघेल का अजीबो-गरीब बयान, मोदी और शाह के दबाव में हुआ सपा-बसपा का गठबंधन, कुंभ में मोदी का सफाईकर्मचारियों का पैर पखारना केवल ब्रांडिंग


बाराबंकी-शांति की खोज में आये छत्तीसगढ़ के सीएम ने राजनीतिक बयान देते हुए राहुल गांधी को मोदी का विकल्प बताया बाराबांकी
जिले में मसौली क्षेत्र के ग्राम मुंजापुर स्थित कबीर आश्रम में सदगुरु विशाल साहब की 43 वीं पुण्यतिथि पर सत्संग और भंडारे का आयोजन हुआ। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी भाग लिया। बघेल के साथ कार्यक्रम में राज्य सभा सांसद डॉ. पीएल पुनिया समेत कांग्रेस पार्टी के कई पदाधिकारी मौजूद रहें। मुख्यमंत्री बनने के बाद भूपेश बघेल दूसरी बार बाराबंकी आए थे। इस मौके पर उन्होंने यूपी में हुए सपा-बसपा गठबंधन को लेकर अजीबो-गरीब बयान दिया।



आश्रम से निकलने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए बघेल ने कहा कि हर साल हम लोग आश्रम के संपर्क में रहते हैं। इस आश्रम में मैं तीसरी बार आया हूं। यह आश्रम प्रेम, सदभाव और भाईचारे का प्रतीक है। यहां आने पर मुझे काफी शांति मिलती है। यूपी में सियासी चुनौतियों के बारे में बघेल ने कहा कि हमने छत्तीसगढ़ में देखा कि कैसे बसपा ने बीजेपी की केंद्र सरकार के दबाव के चलते वहां अजीत जोगी से समझौता किया। यहां भी सपा-बसपा का गठबंधन नरेंद्र मोदी और अमित शाह के दबाव के चलते ही हुआ है। आज पूरा देश नरेंद्र मोदी और बीजेपी का विकल्प ढूंढ़ रहा है और वह विकल्प कांग्रेस और राहुल गांधी से बेहतक कोई दूसरा नहीं हो सकता।



कुंभ में पीएम मोदी द्वारा सफाई कर्मचारियों के पैर पखारने पर भूपेश बघेल ने कहा कि यह केवल ब्रांडिंग के लिए किया गया है। 10 लाख का सूट पहनने वाले चुनाव आने के वजह से गरीबों के पैर धुल रहे हैं। नहीं तो बड़े-बड़े सांसद और विधायक उनसे बात तक नहीं कर सकते।
वहीं राबर्ट वाड्रा के मुरादाबाद में पोस्टर लगने पर बघेल ने कहा कि यह फैसला हाईकमान के स्तर पर होना है। पीएम मोदी पांच एकड़ के किसान को दो हजार रुपए देने आए। उसमें भी उन्होंने कई शर्तें लगा दी। छह हजार का वादा करके अभी केवल दो हजार रुपए देकर उन्होंने किसानों का मजाक उड़ाया है। उन्होंने कहा कि हमने जिस तरह छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्ज माफ किया, उसके मुकाबले यह कुछ भी नहीं। केंद्र सरकार किसानों को केवल बरगलाने का काम कर रही है।



वहीं पुलवामा हमले पर बघेल ने कहा कि इस घटना ने पूरे देश को झझकोर दिया है। यह हमारे लिए बहुत बड़ी त्रास्दी है। इस मामले में हम सरकार के साथ हैं। लेकिन बड़ा सवाल ये है कि इतनी बड़ी चूक हुई कैसे। यह कहीं न कहीं सरकार की विफलता की ओर इशारा कर रही है। बीजेपी सरकार ने अभी तक इस हमले के पीछे किसी की जिम्मेदारी तय नहीं की है।


रिपोर्टर, सैफ मुख्तार Barabanki


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के