aapkikhabar aapkikhabar

आचार संहिता लगते ही एक्शन में आया जिला प्रशासन



आचार संहिता लगते ही एक्शन में आया जिला प्रशासन

जिलाधिकारी उदय भानु त्रिपाठी

 आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले पर होगी सख्त कार्रवाई, होर्डिंग उतरवाने का काम शुरू


 बाराबंकी - लोकसभा चुनाव 2019 की तारीखों की घोषणा हो गई है। इसके साथ ही आचार संहिता भी लागू हो गई है। आचार संहिता लगने के बाद कोई भी राजनीतिक दल या उसके उम्मीदवार जिले में बिना इजाजत के होर्डिंग और बैनर नहीं लगा सकेंगे। राजनीतिक दलों और नेताओं को चुनाव प्रचार में इस्तेमाल के लिए वाहनों की इजाजत लेनी होगी और रैली के लिए प्रशासन से इजाजत लेनी होगी। आचार संहिता लगते ही बाराबंकी जिला प्रशासन भी एक्शन मोड मेें आ गया और जिले भर में राजनीतिक दल या उसके उम्मीदवार की होर्डिंग उतरवाने का काम शुरू करवा दिया गया है।


 बाराबंकी के जिलाधिकारी उदय भानु त्रिपाठी ने बताया कि चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ थी आज आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। अलग-अलग तहसील में एसडीएम को प्रभारी बनाया गया है साथ ही जिले भर में कई टीमें लगाई गई हैं जो 24 घंटे इस बात पर नजर रखेंगे कि कहीं भी आचार संहिता का उल्लंघन न हो। डीएम ने बताया कि आम नागरिक भी कहीं भी आचार संहिता के उल्लंघन के शिकायत कर सकता है। इस बार चुनाव आयोग ने सी विजिल नाम का एक ऐप डेवलप किया है, जो एंड्राइड मोबाइल पर काम करेगा। इस ऐप के द्वारा आम नागरिक कहीं से भी अपने मोबाइल से आचार संहिता के उल्लंघन शिकायत कर सकेगा। डीएम ने बताया कि आज से जिले की तमाम अवैध होर्डिंग जो राजनैतिक दलों द्वारा लगाई गई थी उन्हें हटाने का काम शुरु करवा दिया गया है। हम लोगों की पूरी कोशिश रहेगी कि जिले में आदर्श आचार संहिता का पूरी तरह से पालन कराया जाए।



 वहीं बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉ सतीश कुमार ने बताया कि हमारे जिले में जितने भी पोल, पोलिंग स्टेशन और पोलिंग बूथ हैं, सभी जगहों के लिए मांग के मुताबिक पुलिस फोर्स तैयार कर ली गई है। इस दौरान हमारी फ्लाइंग स्क्वायड टीम और सर्विलांस टीम पुलिस के सिपाही और पैरामिलिट्री फोर्स सभी लोगों को उचित जगह पर तैनात कराया जाएगा। जिले में सभी संदिग्ध लोगों की चैकिंग होगी और अगर कोई आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए पाया जाता है, तो उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान जिले में हम क्राइम और क्रिमिनल दोनों पर शिकंजा कसेंगे। अगर कोई भी शख्स चुनाव कराने में बाधा उत्पन्न करेगा, तो उन लोगों के खिलाफ भी पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।



रिपोर्टर, सैफ मुख्तार


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के