aapkikhabar aapkikhabar

जिले 234 संवेदन शील व 438 अतिसंवेदनशील बूथ निर्धारित, तीसरी आंख के निगरानी में होगा मतदान



जिले 234 संवेदन शील व 438 अतिसंवेदनशील बूथ निर्धारित, तीसरी आंख के निगरानी में होगा मतदान

जिला निर्वाचन अधिकारी

 


 


बलरामपुर। चुनाव आयोग द्वारा आगामी लोकसभा चुनावों की तारीख की घोषणा होने के बाद से जिला प्रशासन ने आचार संहित का कड़ाई से अनुपालन कराने के लिए कमर कस ली है। उत्तर प्रदेश में कुल 07 चरणों में चुनाव संपन्न होगें। 58-श्रावस्ती संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में मतदान प्रक्रिया 12 मई को छठें चरण में संपन्न होगी। यह जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश ने दिया।


उन्होने यह भी बताया कि श्रावस्ती संसदीय क्षेत्र के लोकसभा सामान्य निर्वाचन का संपूर्ण कार्यक्रम का विवरण देते हुये बताया कि श्रावस्ती संसदीय क्षेत्र के निर्वाचन की अधिसूचना दिनांक 16 अप्रैल, नाम निर्देशन हेतु अन्तिम दिनांक 23 अप्रैल, नाम निर्देशन की जांच 24 अप्रैल, नाम वापसी की अन्तिम तिथि 26 अप्रैल, मतदान 12 मई, व मतगणना 23 मई, 2019 को किया जायेगा। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि नामांकन भरने वाले की आयु कम से कम 25 वर्ष होने चाहिए। सामान्य जाति के अभ्यर्थियों के लिए नामांकन शुल्क 25 हजार रुपये व अनुसूचित जातिध्जनजाति 12500 की जमानत राशि जमा करनी होगी। लोकसभा सामान्य निर्वाचन के सन्दर्भ में आदर्श आचार संहिंता दिनांक 10 मार्च से जनपद बलरामपुर में लागू हो गयी है। आदर्श आचार सहिंता का पालन कठोरता पूर्वक कराया जायेगा।


15.45 लाख मतदाता करेेंगे अपने मताधिकार का प्रयोग


जिला निर्वाचन अधिकारी कृष्णा करूणेश ने बताया कि जनपद के कुल 15.45 लाख वोटर लोकसभा निर्वाचन में अपने मतदान का प्रयोग करेंगे। उन्होने कहा कि मतदाता जागरूकता के जिले में पूर्व से कार्यक्रम चलाए गए थे। जिस कारण इस वर्ष मतदाताओं की संख्या में वृद्धि हुई है।


238 संवेदनशील व 438 अतिसंवेदनशील बूथ चिन्हित


जिले में कुल 1846 मतदान केन्द्र बनाये गये है। जिसमें 238 संवेदनशील व 438 अति संवेदनशील केन्द्र है। संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केन्द्रो पर शतप्रशित सीसीटीवी कैमरा व वेवकास्टिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जायेगी। सभी मतदान स्थलों पर पर्याप्त पुलिस फोर्स तैनात रहेगी। जबकि संवेदन व अतिसंवेदनशील केन्द्रों पर अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था करायी जायेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि पिछले लोकसभा चुनावों में मतदान प्रतिशत 49 प्रतिशत के सापेक्ष आगामी लोकसभा चुनावों में मतदान प्रतिशत का लक्ष्य 65 प्रतिशत बनाया गया है। इसके लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जायेगा।


रिपोर्ट - वैभव त्रिपाठी


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के