aapkikhabar aapkikhabar

काली हल्दी को सिद्ध करके इस तरह करें पूजा शुरू हो जाएगी धनवर्षा



काली हल्दी को सिद्ध करके इस तरह करें पूजा शुरू हो जाएगी धनवर्षा

kali haldi ke fayde

जाने ओर समझें कैसे करें काली हल्दी (Kali Haldi ) को सिद्ध


काली हल्दी(Kali Haldi ) को धन व बुद्धि का कारक माना जाता है। काली हल्दी अनेक तरह के बुरे प्रभाव को कम करती है, लेकिन इसके पहले इसे सिद्ध करना पड़ता है।

 शास्त्रों में काली हल्दी को चमत्कारी माना जाता है इसमें तांत्रिक और मांत्रिक ताकत छिपी होती है। इसके उपयोग से बीमार व्यक्ति को स्वस्थ्य किया जा सकता है। इसके अलावा यह तांत्रिक विधि से सिद्ध करने पर व्यक्ति को धनवान बनाती है। इस शास्त्र का जन्म भगवान शिव के मुख से हुआ माना जाता है। इसी विद्या के अंतर्गत बहुत सी सामग्रियों का प्रयोग किया जाता है। काली हल्दी इस विद्या में प्रयुक्त होने वाली एक महत्वपूर्ण सामग्री है।


कहते है की काली के साथ किया हुआ टोटका कभी खाली नहीं जाता है | सिद्ध की हुई काली हल्दी का प्रयोग कर आप जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में लाभ उठा सकते हैं।

 

काली हल्दी (Kali Haldi ) हिन्दू धर्म में तान्त्रिक प्रयोग करने के लिए बहुत ही प्रसिद्ध सामग्री है |यह हर प्रकार के टोटको  में काम आती है | यह रसोईघर के काम या मसालों में उपयोग नहीं आती है |काली हल्दी तंत्र ,ज्योतिष और आयुर्वेद में बहुत सारे चमत्कार दिखाती  है | काली हल्दी के बारे में जितना लिखा जाए उतना कम है | जब तंत्र ,ज्योतिष और आयुर्वेद एकजुट हो जाते  है तो एक नया रास्ता पैदा हो जाता  है, यह बात आपको माननी पड़ेगी |


 

काली हल्दी का लंबा सा पत्र होता है जिसमे एक काले रंग की लकीर Line  होती है | इंसान इसे दूर से ही देख के पहचान जाएगी की यह ही काली हल्दी है | लोग कहते है की काली हल्दी का मिलना बहुत मुश्किल है लेकिन यह पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जाती हैं।


 

काली हल्दी (Kali Haldi Ke Fayde ) बंगाल में चमत्कारी मेडिसिनल उपयोगों के कारण बहुत उपयोग में लायी जाती है |साधक इसे माता काली जी की पूजा करने में उपयोग करते है | यह घर में बुरी शक्तियों को प्रवेश नहीं करने देती |इसको ज्यादा बाधा का नाश करने में उपयोग करते हैं।


 

क्या होती है काली हल्दी??

 

काली हल्दी दिखने में अंदर से हल्के काले रंग की होती है व उसका पौधा केली के समान होता है। काली हल्दी में बहुत ही गुणकारी प्रभाव होता है। इसमें वशीकरण की अद्‍भुत क्षमता होती है।

 

काली हल्दी को घर लाने के लिए क्या करें---

 

काली हल्दी के पौधे को कंकू, पीले चावल से आमंत्रित कर होली वाले दिन लाया जाता है। 

 

समझें काली हल्दी को आमंत्रित करने का तरीका--

 

एक थाली में कंकू, चावल, अगरबती, एक कलश में शुद्ध जल रख, पवित्र कोरे वस्त्र पहन कर जाएं। फिर पौधे को शुद्ध जल से धोकर कंकू चढ़ाएं व पीले चावल चढ़ाकर 5 अगरबत्ती लगाकर कहें- मैं आपके पास अपनी मनोकामना पूर्ति हेतु आया हूं कल आपको मेरे साथ मेरी मनोकामना की पूर्ति हेतु चलना है।

 

फिर होली की रात को जाकर एक लोटा जल चढ़ाकर कहें कि मैं आपके पास आया हूं, आप चलिए मेरी मनोकामना की पूर्ति हेतु। इस प्रकार काली हल्दी (यह जड़ होती है) खोदकर ले आएं। बस यही आपके काम की है।

 

धन प्राप्ति के लिए Kali Haldi ka Prayog 

धन प्राप्ति के लिए काली हल्दी जिसको हरिद्रा तंत्र भी कहते है की साधना शुक्ल या कृष्ण पक्ष की किसी भी अष्टमी से शुरु करना सबसे अच्छा रहता है। इसके लिए पूजा सूर्योदय का समय ही सर्वश्रेष्ठ है।

 

सर्वप्रथम सूर्यादय से पहले उठकर स्नान कर पवित्र हो जाएं। स्वच्छ वस्त्र पहनकर लाल रंग के उनी आसन पर बैठें और पूर्व दिशा की ओर मुख करके इस प्रकार बैठें कि सूर्य को देखने में बाधा ना हो।

 

सूर्यदेव को प्रणाम करके काली हल्दी की गाँठ का पूजन धूप दीप से करें।  सर्योदय होते ही काली हल्दी की गाँठ को नमन कर भगवान सूर्यदेव के मंत्र 'ऊं ह्रीं सूर्याय नम:' का 108x11 बार जप करें। 

यह प्रयोग अष्टमी से शुरू करके अगली अष्टमी तक नियमित करें। पूजा के साथ अष्टमी तिथि को उपवास रखें व ब्राह्मणों को भोजन कराएं। 

 

काली हल्दी की नियम संयम से साधना से धन लाभ होता है। रुका धन भी प्राप्त हो सकता है। परिवार में सुख-समृद्धि आती है। घर की दरिद्रता को दूर कर देता है ये उपाए।

पंडित दयानंद शास्त्री 

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के