aapkikhabar aapkikhabar

काश नौकर को मसाला लाने को न भेजते कमलेश तिवारी तो बच सकती थी जान



काश नौकर को मसाला लाने को न भेजते कमलेश तिवारी तो बच सकती थी जान

Suspected murderer

Kamlesh Tiwari murder में चश्मदीद गवाह ने बताई घटना 


Uttar Pradesh News -दहीबड़ा खिलाया चाय पिलाई और जब मसाला लाने गया तब कमलेश तिवारी(Kamlesh Tiwari ) का मर्डर हो गया।
सुरक्षाकर्मी सो रहे थे और दो अनजान लोग आए और तिवारी जी (कमलेश तिवारी) उनसे मिले और मिलने आये लोग जो बाइक से आये थे उनके साथ बैठे और बात कर रहे थे ।
यह कहना है कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari ) के नौकर का जिसने कमलेश तिवारी से मिलने आये लोगों की आवभगत की और एक बार वह सिगरेट लाने गया और जब वापस आया तो कमलेश तिवारी ने खुद नौकर से मसाला लाने को कहा और जैसे ही वह गया ।
अनजान भगवा धारियों ने कमलेश तिवारी की हत्या कर दी ।
जब नौकर वापस आया तो देखा की कमरे में सन्नाटा है और दोनों मिलने वाले गायब हैं ।
नौकर ने जब पास जाकर देखा तो गले से खून बह रहा था उसने पहले डायल 100 पर फोन किया लेकिन फोन नही मिला।
नौकर ने बताया कि यह दोनों व्यक्ति पहली बार आये थे ।
मौके पर पहुची पुलिस ने कहा है कि यह आपसी विवाद का मामला लगता है और विवेचना का विषय है ।


कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari ) हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे और पैगम्बर पर टिप्पणी करने पर उनके विरुद्ध रासुका लगाया गया था और काफी दिनों तक जेल में थे यही नही मुलिम संगठन ने इनका सर कलम करने वाले को इनाम देने की भी घोषणा की थी ।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के