aapkikhabar aapkikhabar

वृश्चिक संक्रांति-किसी बड़ी फ़िल्मी हस्ती के लिए हो सकती है बुरी खबर



वृश्चिक संक्रांति-किसी बड़ी फ़िल्मी हस्ती के लिए हो सकती है बुरी खबर

vrishchik sankranti

राशियों के स्थान परिवर्तन से बदलती हैं परिस्थितयां 


Jyotish Desk -ज्योतिष में राशि परिवर्तन का अपना ही महत्व है काल और परिस्थिति पर निर्भर करता है | राशि परिवर्तन के बाद जहाँ यह कुछ लोगों के लिए अच्छा होता है वहीँ अन्य राशि वाले लोगों के लिए अपना अलग प्रभाव बनाता है |

पंडित दयानन्द शास्त्री जी ने बताया कि 17 नवम्बर 2019 (रविवार) को होने वाली वृश्चिक संक्रांति  देश के किसी प्रसिद्ध अभिनेता या गायक (फ़िल्म जगत से सम्बंधित) हेतु इस वर्ष कष्टप्रद रहेगी। स्वास्थ ठीक नही रहेगा। किसी प्रसिद्ध हस्ती या उससे जुड़ी कोई आकस्मिक बुरी खबर भी संभवित।

 

इसके साथ सिंह राशि के प्रसिद्ध राजनेता को चौथा बृहस्पति शनि व केतु के कारण स्वास्थ्य को लेकर विशेष सतर्कता बरतनी होगी। 

 

किसान बन्धु भी सचेत/सावधान रहें। पण्डित दयानन्द शास्त्री जी ने बताया कि आगामी 24 नवम्बर 2019 के आसपास ओला वृष्टि  भी  संभावित।

 


 

विशेष योग बनेगा --

25 दिसंबर 2019 को शनि मंगल का द्वीर द्वादश योग आरंभ होगा जो  राजनीति में विशेष रुप से अपनी भूमिका का निर्वाह करता हुआ कुछ शासकों में वैमनस्य बढ़ाएगा।

 

 आगामी समय में धनु राशि में 5 ग्रहों की युति प्राकृतिक आपदा वर्षा युद्ध या अराजकता से जनधन की हानि भी करवाएगी

 

 वैदिक ज्योतिष अनुसार सूर्य हर महीने अपना स्थान बदल कर एक राशि से दूसरे राशि में चला जाता है। संक्रांति का सम्बन्ध कृषि, प्रकृति और ऋतु परिवर्तन से भी है। सूर्य देव को प्रकृति के कारक के तौर पर जाना जाता है, इसीलिए संक्रांति के दिन इनकी पूजा की जाती है। शास्त्रों में सूर्य देवता को समस्त भौतिक और अभौतिक तत्वों की आत्मा माना गया है। ऋतु परिवर्तन और जलवायु में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव इनकी स्थिति के अनुसार होता है। 

 

सूर्य के हर महीने राशि परिवर्तन करने की प्रक्रिया को संक्रांति(Sankranti) के नाम से जाना जाता है। हिन्दू धर्म में संक्रांति का समय बहुत पुण्यकारी माना गया है। संक्रांति के दिन पितृ तर्पण, दान, धर्म और स्नान आदि का काफ़ी महत्व है।

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के