aapkikhabar aapkikhabar

यह शादी बताती है कि जोड़ियां तो ऊपर वाला ही बनाता है



यह शादी बताती है कि जोड़ियां तो ऊपर वाला ही बनाता है

अवलेश हर्षिता

मान्यता है की जोड़ियां ऊपर वाला बनाता है।


हम आप तो केवल एक माध्यम मात्र है


विवाह(Marriage) केवल दो शरीरों का मिलन ही नही अपितु तो आत्माओं का मिलन होने की वो प्रथा है जिस पर मनुष्य की संरचना निर्भर है।


गोंडा Gonda News -इश्वर की इस सुंदर रचना में मनुष्य का दाम्पत्य सूत्र में बंधना जीवन का सबसे महत्वपूर्ण उत्सव होता है इस उत्सव को और भी रोमांचक बनाने के लिए आज कल मैरिज पार्टियों(Marriage Party) में खालों करोड़ों खर्च करके उसे चर्चित बनाने को होड़ मची है आज हम आपके लिए एक ऐसे नव दाम्पत्य के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे जानकार आप रोमांचित हो उठेंगे।


जनपद गोंडा के बहलोल पुर गाँव के अवलेश मिश्र जो जन्म से ही मूक बधिर हैं लेकिन आकर्षक और सुंदर देहयष्ठी देख कर आप उनके इन दिव्य गुणों का अनुमान भी नही लगा पाएंगे।
अवलेश को इश्वर ने सुर और श्रवण (Deaf and Dumb) उनके जीवन की डगर को बहुत कठिन बना दिया मगर अवलेश ने सभी अभावों की चुनौतियाँ को स्वीकार करके 10+की शिक्षा ग्रहण की और गवर्मेंट जॉब भी हालिस किया उनके बड़े विनोद मिश्र ने अवलेश के इस चुनौती पूर्ण जीवन की कठिनाइयों से लड़ने का साहस प्रदान किया साथ ही शिक्षा दीक्षा ग्रहण कराने के लिये उपयुक्त संसाधनो तक पहुंचाया।


अवलेश की जीवन संगिनी कानपुर की रहने वाली हर्षिता भी सुर और श्रवण से वंचित होने के बाद भी B.A पास सभी गुणों से परिपूर्ण है इन दो दिव्यात्माओं का दाम्पत्य (Wedding) सूत्र में बंधने का अद्भुत संयोग सभी के बीच कौतुहल का विषय बना हुआ है हम आपके लिए इस जोड़ी की कहानी इस लिए लाएं है की यदि किसी परिवार में ऐसे बच्चे जन्म लेते हैं तो उनका लालन पालन भी सामान्य बच्चों की भाँति ही करें।
हमे आशा ही नही पूर्ण विश्वास भी है की आप इनके सुखी जीवन के लिए अपना आशीर्वाद अवश्य प्रदान करेंगे।


आपका आशीर्वाद अवलेश और हर्षिता को इतनी ताकत देगा की वे इस दुनिया को ये सन्देश दे सकें की दिव्यांगों को उपेक्षित नही अपितु सशक्त बनाएं।


समाज सेवी प्रदीप कुमार शुक्ला ने हर्षिता के सुखी वैवाहिक जीवन के लिए ईश्वर से प्रार्थना करते उपरोक्त जानकारी दी !


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के