aapkikhabar aapkikhabar

जानिए शनि साढ़ेसाती (Shani Sadhesati) का प्रभाव 2020 में किन किन राशियों पर होगा



जानिए शनि साढ़ेसाती (Shani Sadhesati) का प्रभाव 2020 में किन किन राशियों पर होगा

Sani Sadhesati

Sani Sadhesati Effect 


Dharm Desk -न्याय के देवता शनि ग्रह(Shani Grah) 24 जनवरी 2020 को धनु राशि को छोड़कर अपनी स्वराशि मकर में गोचर कर रहे है। धनु और मकर राशि मे पहले से ही शनि की साढ़ेसाती चल रही है। 24 जनवरी 2020 से कुंभ राशि पर शनि की साढ़ेसाती का पहला चरण शुरू होगा।



वर्ष 2020 में शनि की ढैया मिथुन, तुला राशि पर लगेगी।11 मई से लेकर 29 सितंबर 2020 तक शनि वक्री अवस्था में मकर राशि में गोचर करेंगे और वर्ष 2020 के अंतिम महीने अर्थात 27 दिसंबर को अस्त भी हो जायेंगे, जिसके कारण शनि का कुछ प्रभाव कम होता हुआ दिखाई देगा।

शनि देव(Shani Dev) को न्याय के देवता कहा गया है। शनि देव की कृपा से जातक को हर कार्य में सफलता मिलती है। शनि देव सही के साथ हमेशा न्याय करते है। और गलत करने वालों को दंड देते है।


आइये ज्योतिषाचार्य पण्डित दयानन्द शास्त्री जी से जानते है शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव किन-किन राशियों पर पड़नेवाला है।


उनके जीवन में किस प्रकार के उतार-चढाव आने वाले है और किन उपायों को कर आप इन सभी प्रभावों को कम कर सकते हैं। सबसे पहले जानते हैं शनि के इस राशि परिवर्तन का सभी राशियों पर क्या होगा प्रभाव..

मेष राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में मेष राशि के जातकों को शनि से डरने की या शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।

वृषभ राशि राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में वृषभ राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।

मिथुन राशि पर प्रभाव :

आपकी राशि से शनि इस समय सातवें भाव में गोचर कर रहे है, लेकिन वर्ष 2020 में शनि आपके अष्टम भाव में गोचर करेंगे। अष्टम भाव को मृत्यु का भाव भी कहा जाता है। शनि के इस राशि में आने से मिथुन राशि के जातकों पर अष्टम की ढैय्या की शुरुआत हो जायेगी, जिसके कारण आपके कामों में रूकावटे आयेंगी। वाणी पर कंट्रोल नहीं रहेगा, वाणी में कडवाहट दिखाई देगी। कामकाज में मेहनत का फल मिलने में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। किसी से भी सोच-समझकर और संयम से व्यवहार करें अन्यथा आपके अंदर क्रोध बढेगा और आप अपना ही नुकसान करते चले जायेंगे।

कर्क राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में कर्क राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रहा।

सिंह राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में सिंह राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।

कन्या राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में कन्या राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।

तुला राशि पर प्रभाव :

इस वर्ष 2020 में तुला राशि पर शनि की साढ़ेसाती नहीं रहेगी परन्तु शनि तुला राशि के चतुर्थ भाव में गोचर करेंगे। शनि के तुला राशि में आने से इस राशि के जातकों पर चतुर्थ भाव की ढैय्या शुरु हो जायेगी, जिसके कारण इस राशि के जातकों को शत्रु परेशान कर सकते है। स्वास्थ्य खराबी का सामना करना पड़ेगा या कोई पुरानी बीमारी आपको परेशान कर सकती है। नौकरीपेशा लोगों की मेहनत में इजाफ़ा होगा, थकावट महसूस होगी।

वृश्चिक राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में वृश्चिक राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।

धनु राशि पर प्रभाव :

धनु राशि पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव पहले से ही है। वर्ष 2020 में शनि धनु राशि के द्वितीय भाव में राशि परिवर्तन करेंगे, इसे धनभाव कहते है, इसलिए इनको कामकाज में लाभ होगा। इस वर्ष 2020 में स्वास्थ्य खराबी के हालात कई बार देखने को मिलेंगे और आपका धन भी इलाज पर खर्च होगा। इस वर्ष माता के स्वास्थ्य का ध्यान रखे अन्यथा परेशानी उत्पन्न होगी। नया घर या भूमी से सम्बंधित कामों में रूकावटे आने के संकेत मिल रहे है। कोई भी काम जल्दबाजी में न करें।

मकर राशि पर प्रभाव :

मकर राशि पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव पहले से ही है। वर्ष 2020 मे शनि का गोचर इसी राशि में हो रहा है। मकर राशि के जातकों के लिए शनि की साढ़ेसाती का दूसरा चरण शुरू होगा, जिसके अनुसार इन राशि के लोगों की अपने भाई-बहनों से मित्रों से अनबन होगी। वैवाहिक जीवन में कलह बढ़ेंगे। पारिवारिक और गृहस्थ जीवन में उथल-पुथल देखने को मिलेगी। कामकाज में भी जरुरत से ज्यादा परिश्रम करने पड़ेंगे।

कुंभ राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में शनि न्याय के देवता आपकी राशि से बारहवें घर में गोचर करेंगे जिसके अनुसार कुंभ राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती का पहला चरण शुरू होगा, जिसके कारण खर्चे की अधिकता रहेगी और आपकी आर्थिक स्थिति डगमगा सकती है। शत्रुओं से सावधान रहे, वो आपको परेशान करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते है। नौकरीपेशा लोगों को नौकरी से सम्बंधित दिक्कते आ सकती है। मन पर काबू रखे, किसी भी कार्य को जल्दबाजी में न करें और अपने गुस्से पर नियंत्रण रखें।

मीन राशि पर प्रभाव :

वर्ष 2020 में मीन राशि के जातकों को शनि के अशुभ प्रभाव से डरने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि आपके ऊपर शनि की साढ़ेसाती और ढैय्या का प्रभाव नहीं रहेगा।


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के