aapkikhabar aapkikhabar

Modi Government की Image खराब करने की बड़ी साजिश ,The Economist में छपी विवादों से भरी Article



Modi Government की Image खराब करने की बड़ी साजिश ,The Economist में छपी विवादों से भरी Article

The Economist Front Page

The Economist ने एक साल में ही बदल ली अपनी सोच


National News- Prime Minister Narendra Modi को अब देश मे हिन्दू धर्म को बढ़ावा देने वाला और मुस्लिमों में डर पैदा करने वाला बताया गया है और यह ऐसा हुआ है जब एक मैगजीन The Economist में एक आर्टिकल के जरिये Modi Government पर चोट पहुँचाने का प्रयास किया गया है ।



यह वही The Economist Magzine है जिसने अभी एक साल पहले भारत की इकॉनमी को अच्छा बताया था और अब एक साल में ही उसे Modi Government में कमी दिखने लगी है ।
गौरतलब है कि India में Citizenship Amendment Act लागू होने के बाद सत्ता विरोधी दलों द्वारा खास कर मुस्लिम वर्ग को बर्गलाकर प्रदर्शन कराए जा रहे हैं ।


Modi Government को बदनाम करने की साजिश


Government Of India द्वारा कई बार यह स्पष्ट कर देने के बावजूद कि CAA नागरिकता देने के बारे में कानून है किसी की नागरिकता लेने के बारे में नही है फिर भी देश भर में मुस्लिम वर्ग और कुछ उनके सरपरस्त द्वारा प्रदर्शन किया जा रहा है और कई जगह हिंसक प्रदर्शन भी हुए और तोड़फोड़ तक किया गया ।
Twitter Trends पर नजर डालें तो The Economist के आर्टिकल के पक्ष और विपक्ष में लोग Tweet कर रहे हैं ।
सवाल यह भी पूछा जा रहा है कि आखिर एक साल में ऐसी कौन सी बात हो गई कि Modi Government फेल नजर आने लगी ।


A year ago,the IMF and its new chief economist @GitaGopinath were bullish on the Indian economy contrary to evidence. She said the economy was "healthy". A year later, they've sharply downgraded India's growth forecast.What happened?Ineptitude or politics? https://t.co/dP3wGefcz2


Twitter Trends up में आया The Economist
Twitter Trending में यह भी सलाह दी जा रही है कि लोग अपने Local Economist को पढ़ें और उन पर भरोसा करें ।
Advise to all youngsters-


Stop reading Western Media Economists, NYT, Post etc on India.


It is nothing but rank Islamist agenda.


Read Indian writers, preferably in your local languages.


PM Modi is determined to transform India into a chauvinist Hindu state and is trying to stoke hostility between India's religions, writes @TheEconomist #Economist


As a student of international politics and media both, I never take coverage of South Asian countries by western media seriously. The Economist is useful to know about the western world but their commentary on our politics? Highly biased and factually incorrect.


जिस तरह से The Economist द्वारा India के बारे में Image खराब की जा रही है उसको लेकर भी सवाल उठाए जा रहे हैं कि Davos में India को Represent कर रहे Economist Sadhguru से भी अपेक्षा की जा रही है कि इस बारे में कुछ कदम उठाएं।


I request the great economist, statesman and world leader Sadhguru who is representing India at Davos to do something about how these spiritually bankrupt and culturally backward publications are tarnishing our flourishing democracy on the world stage.



"Students, secularists, even the media have begun speaking out against #PMModi for his apparent determination to transform India from a tolerant, multi-religious place into a chauvinist Hindu state," says The Economist's latest piece on #CAA_NRCProtests.
https://t.co/2fElgxdox4


 


 


 


 


-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के