aapkikhabar aapkikhabar

DGP OP Singh के नाम हुआ एक और रिकार्ड लगातार 2 साल तक बने रहे DGP



DGP OP Singh के नाम हुआ एक और रिकार्ड लगातार 2 साल तक बने रहे DGP

DGP OP Singh hold Post for 2 years

यूपी पुलिस (UP Police) चीफ का दो साल का कार्यकाल पूरा करने वाले दूसरे डीजीपी ओपी सिंह  (DGP O P Singh)


Lucknow News(State News) यूपी पुलिस चीफ ओ पी सिंह के उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था सभाले हुए बृहस्पतिवार को दो साल पूरा हो गया,राजधानी में दो साल का कार्यकाल पूरा करने वाले दूसरे डीजीपी बने है।

 

पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह के तीन महीने के सेवा विस्तार के बाद बाइस दिनों तक प्रदेश में डीजीपी की कुर्सी खली रहने के बाद 23 जनवरी 2019 को पदभार ग्रहण किया था । और वह इस महीने कि 31 जनवरी को सेवानिवृत्त भी हो रहे है ।

 

बताते चले कि वर्ष 1977 के बाद दो साल का कार्यकाल पूरा करने वाले वे दूसरे डीजीपी हैं। इससे पहले विक्रम सिंह ने दो साल का कार्यकाल पूरा किया था। हालांकि सेवानिवृत्ति से पहले ही उन्हें पद से हटाकर होमगार्ड विभाग में डीजी बना दिया गया था।


डीजीपी (DGP)दो साल का कार्यकाल पूरा होने पर की प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा, पुलिस विभाग के प्रत्येक क्षेत्र को और अधिक अच्छा बनाने की कोशिश की गई े साइबर क्राइम पर नियंत्रण के लिए आईजी स्तर से निगरानी शुरू कराने के साथ ही साइबर सेल भी बनाई गई। बीट सिस्टम में सुधार, नए थानों का विस्तार, पुलिस कमिश्नर सिस्टम और पुलिस युनिवर्सिटी पर काम किया गया।

वही कार्य के दौरान बेहतर प्रदर्शन करने वाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को कॉप आॅफ द मंथ(Cop Of The Month) की पहल की गई वही पुलिस की आपात सेवा डायल 112 की पीआरवी पर तैनात कर्मचारियों को पीआरवी आॅफ द डे के रूप में नित अच्छा करने की प्रेरणा भी दी गई ेसाथ ही पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ाने व उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए प्रशंसा चिह्न की संख्या बढ़ाई गई।

डायल 100 से 112 बना किया सेवा का एकीकरण

पूर्व में उत्तर प्रदेश में यूपी 100 से यूपी 112 कर विभिन्न आपात सेवाओँ के एकीकरण का काम भी किया गया जिसमे फायर, एंबुलेंस और जीआरपी की सेवाओं को जोड़ा गया। यूपी कॉप के जरिये आॅनलाइन एफआईआर की व्यवस्था शुरू की गई, जो काफी कारगर साबित हुई है। ई-चालान की व्यवस्था शुरू की गई। पुलिस के व्यवहार में बदलाव होने से लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा।

पॉक्सो एक्ट(POCSO Act) में रिकॉर्ड नौ दिन में दिलाई सजा

ओपी सिंह ने बताया कि पॉक्सो एक्ट के तहत अपराधियों को रिकॉर्ड 9 दिन और 18 दिन के अंदर अपराधियों को सजा दिलाई गई। महिला सुरक्षा के लिए 112 पीआरवी पर महिलाओं की तैनाती की गई। रात में सहायता मांगने पर महिलाओं को घर तक पहुंचाने में भी पुलिस मदद कर रही है। महिलाओं की सुरक्षा के लिए स्कूलों की प्रधानाचार्यों से उन्होंने खुद संवाद किया।

भर्ती, (UP Police Recruitment) प्रमोशन और प्रशिक्षण पर रहा फोकस

उन्होंने बताया कि प्रदेश को पिछले साल करीब 75 हजार नए पुलिस कर्मी मिले और 44 हजार लोगों को प्रमोशन दिया गया। इन पुलिस कर्मियों को पहली बार वर्चुअल क्लास के जरिये केंद्रीय अर्धसैनिक बल के प्रशिक्षण केंद्रों को जोड़कर प्रशिक्षित किया गया। वहीं, दुबई में यूपी 100 (UP 100)(वर्तमान यूपी 112) को अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला है।

Source News Agency 

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के