aapkikhabar aapkikhabar

फ्री के लालच में फंस गई दिल्ली की जनता फिर भी जनादेश सर आँखों पर



फ्री के लालच में फंस गई दिल्ली की जनता फिर भी जनादेश सर आँखों पर

Arvind Kejriwal

भाजपा ने कहा जनता का आदेश सर माथे पर तो शरद पवार ने केजरीवाल की जीत आश्चर्यजनक  नहीं 


National News Desk - दिल्ली विधानसभा चुनाव में हुई हार के लिए  मुख्य विपक्षी दल भाजपा ने चुनाव में अपनी हार स्वीकार करते हुए दिल्लीवासियों को बधाई दी है। पार्टी ने कहा कि जनता ने जो हमारे लिए फैसला लिया है, वह स्वीकार्य है। इस बार पिछली बार के मुकाबले हम एक मजूबत विपक्ष के रूप में नजर आएंगे और केजरीवाल की नीतियों का पुरजोर विरोध करेंगे। 

Tweets 





पश्चिम दिल्ली के भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि राजधानी की जनता केजरीवाल के मुफ्त प्रलोभन में चली गई है। मैं जनादेश स्वीकार करता हूं। पिछले 21 सालों से दिल्ली में गैर-भाजपा की सरकारें बन रही हैं। हमें इस बात का दुख है कि केजरीवाल सरकार की कमियों को जनता के सामाने ठीक से प्रस्तुत नहीं कर पाये। हम और मेहनत करेंगे और अगले पांच सालों में दिल्ली सरकार की कमियों से जनता को रूबरू कराएंगे।   

 

भाजपा सांसद ने कहा कि पिछले तीन महीनों ने दिल्ली की जनता को फ्री बिजली और पानी मिला रहा था। डीटीसी बसों में महिलाएं मुफ्त में यात्रा कर रही थीं, लेकिन यह जो कुछ हो रहा था वह केवल तीन महीने से हो रहा था। शाहीनबाग के मुद्दे पर भाजपा सांसद ने कहा कि इस विषय में अभी कुछ बात करना ठीक नहीं क्योंकि हमारी सीटें और वोट प्रतिशत में बढ़ोतरी हो रही है। उन्होंने आशा जताई कि अगले पांच साल में मुख्यमंत्री केजरीवाल आरोप-प्रत्यारोप की राजनीतिक नहीं करेंगे। 

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि दिल्ली में अरविंद केजरीवाल की जीत आश्चर्यजनक नहीं है। पवार ने कहा कि इसका अंदाजा उन्हें पहले से था। शरद पवार ने कहा कि वह दिल्ली में जहां जाते थे, सभी केजरीवाल का ही नाम ले रहे थे। 

 

शरद पवार ने मंगलवार को पुणे में पत्रकारों से कहा कि दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की पराजय का सबसे बड़ा कारण उनका अहंकार ही है। इसी वजह से भाजपा को मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, झारखंड आदि राज्यों में पराजय का मुंह देखना पड़ा था। लोगों की धार्मिक भावना भडक़ा कर अब चुनाव नहीं जीता जा सकता है, इस बात को भाजपा को समझ लेना चाहिए। चुनाव से पहले भाजपा ने धार्मिक तनाव पैदा करने का प्रयास किया था, गोली मारने की बात की गई थी।

 

शरद पवार ने कहा कि भाजपा धार्मिक मुद्दों को उभारते-उभारते अब राष्ट्रीय आपत्ति बन चुकी है। इस आपत्ति को हटाया जा सकता है और हटाने का काम जारी हो गया है। शरद पवार ने कहा कि इसके बाद बनने वाली सरकारों को जनहित की व स्थिर सरकार देना आवश्यक है। पवार ने कहा कि महाराष्ट्र में जो प्रयोग किया गया है, उसी तरह का प्रयोग अगर सभी राज्यों में किया गया तो इसके नतीजे आश्चर्यजनक हो सकते हैं। 

akhilesh Yadav ने भी अरविन्द केजरीवाल को बधाई दी है 





 

-



सम्बंधित खबरें



खबरें स्लाइड्स में


खबरें ज़रा हट के