Top
Aap Ki Khabar

किसानों की आय दुगुनी करने में मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि ,'किसान रेल' को मिली बड़ी सफलता

किसानों की आय दुगुनी करने में मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि ,किसान रेल को मिली बड़ी सफलता
X

National News Desk -मोदी सरकार द्वारा किसानों की उपज पर आए को दुगना करने के लिए जो प्रयास किए जा रहे थे वाह अब सफलता की तरफ आगे बढ़ना है सरकार द्वारा किसान रेल को अभी शुरू किए बहुत ही कम दिनों में ही उसकी जबरदस्त सफलता दिखनी शुरू हो गई है सबसे बड़ा फायदा यह है कि किसान रेल चलाने के बाद से किसान अपनी उपज को जल्द ही मार्केट में भेज सकते हैं और यही नहीं फ्रोजन सब्जियां भी ऐसी कंटेनर के द्वारा दूरदराज क्षेत्रों में भेजी जा सकती है और इसका असर दिखना भी शुरू हो गया है.

इंडियन रेलवे (Indian Railways) द्वारा हाल ही में शुरू की गई किसान रेल (Kisan Rail) को जमकर प्रतिक्रिया मिल रही है। रेलवे मंत्रालय द्वारा शेयर किए गए आंकड़ों के अनुसार, सेंट्रल रेलवे जोन के सांगोला में हाल ही में 187.41 टन के 15,477 पैकेजों की लोडिंग की गई, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। किसान रेल के जरिए अनार, हरी मिर्च, शिमला मिर्च, नींबू, अदरक, आइस्ड मछली जैसी वस्तुओं को पहुंचाया जाता है। जल्द ही फल और सब्जियों के अलावा कंटेनरों में मांस और मछली का भी परिवहन शामिल किया जाएगा।
रेलवे ने 10 सितंबर को किसानों की आमदनी बढ़ाने के मकसद से भारत की दूसरी स्पेशल किसान रेल की शुरुआत की थी। ये आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh) के अनंतपुर (Anantapur) से नई दिल्ली (Delhi) के आदर्श नगर (Adarsh Nagar in Delhi) के बीच की दूरी तय करेगी। इस ट्रेन का उद्घाटन केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी (YS Jagan Mohan Reddy) बुधवार सुबह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरी झंडी दिखा कर किया था।
ये कदम 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए दूर के स्थानों तक कृषि उपज का परिवहन तेजी से करने में मदद के लिए किसान रेल शुरू की जा रही है। सरकार का कहना है कि इस किसान रेल के चलने से आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के अनार, खरबूजा, पपीता, अमरूद, टमाटर सहित अन्य फल और सब्जियों की आपूर्ति दिल्ली-NCR के इलाकों में आसानी से हो सकेगी। इससे वहां के किसानों को बेहतर कीमत मिलेगी।
इस ट्रेन के चलने से दिल्ली और आस पास के इलाकों के लोगों को बेहतर फल और सब्जी की आपूर्ति भी हो सकेगी। ये स्पेशल ट्रेन भारत की दूसरी और दक्षिण भारत की पहली किसान रेल है। देश की पहली किसान रेल महाराष्ट्र के देवलाली (Devlali in Maharashtra) से बिहार के दानापुर (Danapur in Bihar) के लिए पिछले महीने 7 अगस्त 2020 को चलाई गई है। यह साप्ताहिक ट्रेन हैं।
भारतीय रेल नेटवर्क के कुछ मार्गों को सरकार द्वारा मैंगो स्पेशल, बनाना स्पेशल, सपोटा स्पेशल, प्याज स्पेशल आदि को चलाने के लिए रूट की पहचान की गई है। किसान रेल किसानों, विशेष रूप से बागवानी फसलों को उगाने वालों के लिए एक वरदान के रूप में आई है, क्योंकि इससे यह सुनिश्चित होगा कि उपज जल्दी बाजारों तक पहुंचे।

Next Story
Share it