आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सर्विस कंपनी नविकेंज ने सीड फंडिंग में जुटाए 40 लाख डॉलर

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सर्विस कंपनी नविकेंज ने सीड फंडिंग में जुटाए 40 लाख डॉलर
आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सर्विस कंपनी नविकेंज ने सीड फंडिंग में जुटाए 40 लाख डॉलर नई दिल्ली, 27 अप्रैल (आईएएनएस)। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) सर्विस कंपनी नविकेंज ने कई एचएनआई की ओर से सीड फंडिंग में 40 लाख डॉलर जुटाए हैं।

यह निवेश ऐसे समय में सामने आया है, जब कंपनी का लक्ष्य उद्योग में अपनी स्थिति का विस्तार करना और उसे और मजबूत करना है।

आईटी उद्योग के दिग्गज अंजन लाहिरी द्वारा 2021 में स्थापित, नविकेंज व्यावसायिक प्रक्रियाओं को बेहतर बनाने और मानव अंतज्र्ञान के साथ मानव प्रयास को प्रतिस्थापित करने के लिए एआई सक्षम समाधानों (सॉल्यूशंस) को खोजने और कार्यान्वित करने में उद्यमों की सहायता कर रहा है।

संस्थापक टीम में समित देब, बालाजी कृष्णन, मेघा जैन और गुरुदत्त कामथ भी शामिल हैं। इन उद्योग विशेषज्ञों के पास 25 से अधिक वर्षों का औसत अनुभव है और इनमें भविष्य को बेहतर ढंग से बदलने की एक भूख भी है।

इस निवेश के साथ, नविकेंज भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका में अपने पदचिह्नें का विस्तार करेगा। कंपनी ने पहले ही कैंपस हायरिंग का एक दौर पूरा कर लिया है और यह भारत और अमेरिका में 100 हाई-एंड टेक्नोलॉजी पेशेवरों की एक टीम को नियुक्त करने की योजना बना रही है, जिसमें एंटरप्राइज आर्किटेक्ट्स, डेटा आर्किटेक्ट्स, डेटा साइंटिस्ट्स और मशीन लनिर्ंग इंजीनियर्स शामिल हैं।

हालिया घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए, नविकेंज के सह-संस्थापक और सीईओ अंजन लाहिरी ने कहा कि किसी भी कंपनी को कोड की दूसरी लाइन की आवश्यकता नहीं है - उन्हें उच्च राजस्व और कम लागत की आवश्यकता होती है। प्रौद्योगिकी उन्हें ऐसा करने में सक्षम बनाती है। लोगों को महज रोजगार की जरूरत नहीं है, उन्हें रोजगार की जरूरत के साथ ही एक उद्देश्य की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि नविकेंज में उनका उद्देश्य लोगों के मन में यह भावना जगाना है कि हम ग्राहकों के लिए समस्याओं को इस तरह से हल करना चाहते हैं, जिससे वे हर दिन अपने कंप्यूटर में लॉग इन करने के साथ ही समाधान पा सकें।

हाल ही में परिचालन शुरू करने के बावजूद, नविकेंज के पास पहले से ही अमेरिका और भारत में स्थित काफी ग्राहक हैं। अगले पांच वर्षों में, कंपनी का लक्ष्य आईटी सेवा क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण दिग्गज बनना है। एक प्रबंधन टीम के साथ, जो एक अरब डॉलर से अधिक के व्यवसायों को आसानी से संभाल सकती है, यह अपने फॉर्च्यून 500 टारगेट ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए आवश्यक गति को प्राप्त करने के जैविक और अकार्बनिक (ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक) साधनों को देखेगी।

नविकेंज के को-फाउंडर और चीफ ऑफ पीपल सक्सेस, समित देब ने आज की दुनिया का जिक्र करते हुए कहा कि प्रतिस्पर्धी रूपी हथियार प्रतिभा को आकर्षित करने और बनाए रखने की एक क्षमता है। उन्होंने कहा कि हम जितना संभव हो सके उतने पोस्ट-कोविड प्रैक्टिस (संक्रमण के बाद रिकवरी की दिशा में) को आगे बढ़ाने का लक्ष्य बना रहे हैं, जिससे हमें उद्योग में सर्वश्रेष्ठ प्रतिभा के लिए पसंदीदा स्थान मिल सके।

नविकेंज 2021 से फॉर्च्यून 500 कंपनियों से जुड़ रहा है, जिससे उन्हें अपने एआई-आधारित सॉल्यूशंस की ताकत को पहचानने में मदद मिल रही है, जैसे कि बिजनेस प्रोसेस कंसल्टिंग, एंटरप्राइज आर्किटेक्चर, क्लाउड और डेटा साइंस क्षमताएं। अपनी अलग-अलग कंसल्टिंग और एंटरप्राइज आर्किटेक्चर पद्धति के साथ, नविकेंज उन कंपनियों के लिए सबसे उपयुक्त भागीदार के रूप में उभरा है, जो यह निर्धारित करना चाहती हैं कि वे आधुनिक तकनीकों के साथ अपने संगठनों को कैसे बदल सकते हैं।

एआई विभिन्न प्लेटफार्मों में उद्योगों के कार्य करने के तरीके को बड़े पैमाने पर बदलने के लिए तैयार है। हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि यह बदलाव किस हद तक होगा। 2021 के मैकिन्से सर्वेक्षण के निष्कर्षों से संकेत मिलता है कि एआई को अपनाना लगातार बढ़ रहा है: सभी उत्तरदाताओं में से 56 प्रतिशत ने कम से कम एक फंक्शन के दौरान एआई अपनाने की बात कही, जो कि 2020 में 50 प्रतिशत से भी बड़ी संख्या है। नए परिणाम बताते हैं कि उभरती अर्थव्यवस्थाओं में कंपनियों के मुख्यालय में पिछले साल से एआई अपनाने में सबसे अधिक वृद्धि हुई है, जिसमें चीन, मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका शामिल हैं। इसके अलावा सभी क्षेत्रों में, भारतीय कंपनियों में अडॉप्शन रेट भी सबसे अधिक है, इसके बाद एशिया-प्रशांत की कंपनियों का नंबर आता है।

आज की दुनिया में, प्रत्येक व्यवसाय, संगठन और वैश्विक फर्म न केवल उद्योग बल्कि उनके लक्षित ग्राहकों या टागरेट ऑडियन्स की बदलती आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आधुनिक तकनीकों में भारी निवेश कर रही है। नविकेंज का भविष्य में व्यावसायिक परामर्श और एंटरप्राइज आर्किटेक्चर क्षमताओं के साथ आगे बढ़ेगी।

--आईएएनएस

एकेके/एसकेपी

Share this story