एफएंडओ सेगमेंट में 10 में से 9 ट्रेडर घाटे में

एफएंडओ सेगमेंट में 10 में से 9 ट्रेडर घाटे में
नई दिल्ली, 26 जनवरी (आईएएनएस)। बाजार नियामक सेबी के एक अध्ययन के अनुसार वित्त वर्ष 2018-19 और वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में 10 में से नौ व्यक्तिगत व्यापारियों को घाटा हुआ।

वित्त वर्ष 2018-19 की तुलना में वित्त वर्ष 2021-22 में इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में व्यक्तिगत व्यापारियों की संख्या में 500 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है।

वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में 98 प्रतिशत व्यक्तिगत व्यापारियों ने विकल्पों में कारोबार किया।

वित्त वर्ष 2021-22 में घाटे में चलने वाले निर्माताओं ने औसतन 50 हजार रुपये के करीब शुद्ध व्यापारिक घाटा दर्ज किया। एक घाटे वाले निर्माता का औसत पूर्ण शुद्ध घाटा एक लाभ निर्माता द्वारा किए गए शुद्ध लाभ से 15 गुना अधिक था।

सेबी ने कहा कि शुद्ध व्यापारिक घाटे के अलावा नुकसान निर्माताओं ने लेन-देन की लागत के रूप में शुद्ध व्यापार घाटे का अतिरिक्त 28 प्रतिशत खर्च किया।

लेन-देन लागत के रूप में इस तरह के मुनाफे का 15 से 50 प्रतिशत के बीच शुद्ध व्यापारिक मुनाफा कमाने वाले हैं।

एक कार्यकारी समूह की देखरेख में सेबी ने इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में व्यक्तिगत व्यापारियों की भागीदारी और लाभ-हानि दोनों के रुझानों का विश्लेषण करते हुए एक अध्ययन किया।

कार्य समूह में शिक्षाविदों, समाशोधन निगमों, दलालों और बाजार विशेषज्ञों का प्रतिनिधित्व था।

महामारी से पहले और बाद में प्रासंगिक तरीके से परिणामों की तुलना करने के लिए अध्ययन में वित्त वर्ष 2018-19 और वित्त वर्ष 2021-22 की अवधि को शामिल किया गया है।

अध्ययन सभी शीर्ष -10 स्टॉक ब्रोकरों के सभी व्यक्तिगत ग्राहकों के नमूने पर आधारित है, जो वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान इक्विटी एफएंडओ सेगमेंट में कुल व्यक्तिगत ग्राहक कारोबार का 67 प्रतिशत हिस्सा है।

सेबी ने कहा कि समय-समय पर डेटा विश्लेषण और इस प्रकृति का खुलासा बाजार जोखिमों के बारे में निवेशकों की जागरूकता को बढ़ा सकता है।

इसे ध्यान में रखते हुए सेबी जल्द ही ब्रोकरों और एक्सचेंजों द्वारा निवेशकों को किए जाने वाले अतिरिक्त जोखिम प्रकटीकरण के संबंध में दिशानिर्देश जारी करेगा।

--आईएएनएस

सीबीटी

Share this story