एयर इंडिया अपने पायलटों को 65 साल की उम्र तक उड़ान भरने की अनुमति देगी

एयर इंडिया अपने पायलटों को 65 साल की उम्र तक उड़ान भरने की अनुमति देगी
एयर इंडिया अपने पायलटों को 65 साल की उम्र तक उड़ान भरने की अनुमति देगी नई दिल्ली, 2 अगस्त (आईएएनएस)। अपने विस्तारित बेड़े के आकार के लिए पर्याप्त संख्या में पायलट सुनिश्चित करने के लिए टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयर इंडिया (एआई) ने उनकी सेवानिवृत्ति की आयु 58 से बढ़ाकर 65 करने का निर्णय लिया है।

29 जुलाई को जारी एयरलाइन के आंतरिक दस्तावेज में कहा गया, हमारे बेड़े के लिए भविष्य की विस्तार योजनाओं को ध्यान में रखते हुए, पायलटों के लिए हमारे कार्यबल की आवश्यकता को पूरा करना अनिवार्य है। डीजीसीए (नागरिक उड्डयन महानिदेशालय) एयर इंडिया की सेवानिवृत्ति की आयु 58 वर्ष की तुलना में पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति देता है। पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति देना उद्योग में अधिकांश एयरलाइनों द्वारा पालन की जाने वाली एक प्रथा है।

दस्तावेज में एआई के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (सीएचआरओ), एस.डी. त्रिपाठी ने कहा, हमारी आवश्यकता को पूरा करने के लिए, हमारे वर्तमान प्रशिक्षित पायलटों को सेवानिवृत्ति के बाद 5 साल के लिए अनुबंध के आधार पर एयर इंडिया में 65 साल तक बढ़ाने का प्रस्ताव है।

एआई की नई नीति के अनुसार, अगले दो वर्षो में सेवानिवृत्त होने वाले पायलटों की पात्रता की जांच के लिए मानव संसाधन और संचालन और उड़ान सुरक्षा के कार्यात्मक प्रतिनिधियों का एक पैनल गठित किया जाएगा। पैनल अनुशासन, उड़ान सुरक्षा और सतर्कता के संबंध में पायलटों के पिछले रिकॉर्ड की समीक्षा करने के लिए जिम्मेदार होगा। समीक्षा के बाद, समिति सीएचआरओ को सेवानिवृत्ति के बाद अनुबंध जारी करने के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों की सिफारिश करेगी।

एयरलाइन की नीति के अनुसार, सेवानिवृत्ति के बाद के अनुबंध में अनुबंध के आधार पर प्रदर्शन, आचरण और उड़ान सुरक्षा रिकॉर्ड की वार्षिक समीक्षा के लिए एक खंड शामिल होगा। पांच वर्ष की संतोषजनक सेवा पूर्ण करने पर उनके कार्य निष्पादन की विस्तृत जांच करने पर 65 वर्ष तक और बढ़ाने पर विचार किया जाएगा। दस्तावेज में कहा गया है कि गठित समिति द्वारा इसकी समीक्षा की जाएगी।

--आईएएनएस

एसकेके/एसजीके

Share this story