कॉमवीवा को मिला मास्टरकार्ड क्लाउड-आधारित पेमेंट सर्टिफिकेशन

कॉमवीवा को मिला मास्टरकार्ड क्लाउड-आधारित पेमेंट सर्टिफिकेशन
कॉमवीवा को मिला मास्टरकार्ड क्लाउड-आधारित पेमेंट सर्टिफिकेशन मुंबई, 3 अगस्त (आईएएनएस)। डिजिटल वित्तीय समाधानों में वैश्विक अग्रणी कॉमवीवा को मास्टरकार्ड द्वारा डिजिटल सिक्योर रिमोट पेमेंट्स (डीएसआरपी) सहित मास्टरकार्ड क्लाउड-आधारित पेमेंटस (एमसीबीपी) के लिए टोकन अनुरोधकर्ता-टोकन सेवा प्रदाता (टीआर-टीएसपी) के रूप में प्रमाणित किया गया है।

कॉमवीवा को ईएमवीसीओ सॉफ्टवेयर-आधारित मोबाइल भुगतान (एसबीएमपी) सुरक्षा प्रमाणन भी प्राप्त हुआ है। कॉमवीवा के मोबिक्विटी प्लेटफॉर्म के लिए ये प्रमाणपत्र टोकनाइजेशन और होस्ट कार्ड इम्यूलेशन (एचसीई) का लाभ उठाते हैं ताकि सुरक्षित इन-स्टोर कॉन्टैक्टलेस के साथ-साथ रिमोट इन-ऐप भुगतान प्रदान किया जा सके।

मोबाइल टैप एंड पे एट मर्चेट पॉइंट-ऑफ-सेल (पीओएस) और इन-ऐप भुगतान जैसे डिजिटल कार्ड भुगतान तेजी से बढ़ रहे हैं, जिससे लेनदेन की बेहतर सुरक्षा की आवश्यकता पैदा हो रही है। मास्टरकार्ड एमसीबीपी के माध्यम से टोकनाइजेशन का उपयोग कर डिजिटल भुगतान को अपनाने में तेजी ला रहा है, कार्ड क्रेडेंशियल्स को डिजिटाइज करने और संपर्क रहित और दूरस्थ भुगतान लेनदेन दोनों को सक्षम करने के लिए विकसित एक सुरक्षित और स्केलेबल सॉफ्टवेयर-आधारित समाधान है।

एमसीबीपी के लिए प्रमाणित कॉमवीवा का मोबिक्वीटी प्लेटफॉर्म, टैप एंड पे, क्यूआर कोड-आधारित भुगतान और इन-ऐप भुगतान जैसे कई कार्ड भुगतान की सुविधा देता है। टैप एंड पे लीवरेज एचसीई तकनीक उपभोक्ताओं को अपने मोबाइल फोन में क्रेडिट या डेबिट कार्ड का डिजिटल वर्जन बनाने और संपर्क रहित भुगतान करने के लिए नियर-फील्ड कम्युनिकेशन (एनएफसी) पीओएस मशीनों पर मोबाइल फोन को टैप करने की अनुमति देता है। टोकनाइजेशन सेवाएं कार्ड लेनदेन को सुरक्षित बनाती हैं क्योंकि यह संवेदनशील कार्ड विवरण को एक अद्वितीय डिजिटल पहचानकर्ता के साथ बदल देती है, जिसे कार्ड ट्रांसेक्शन प्रोससिंग के दौरान टोकन कहा जाता है।

मोबीक्वीटी टैप एंड पे सॉल्यूशन ने मजबूत सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए एसएमबीपी सुरक्षा प्रमाणन के तहत ईएमवीसीओ द्वारा निर्धारित सभी अनुपालन हासिल किए।

मोबीक्वीटी को डीएसआरपी के लिए भी प्रमाणित किया गया है, यह एक मास्टरकार्ड तकनीक है जो मास्टरकार्ड कार्ड पर किए गए दूरस्थ भुगतान के लिए सुरक्षित लेनदेन को सक्षम बनाती है। डीएसआरपी उपयोग के मामलों में क्यूआर कोड-आधारित भुगतान और इन-ऐप भुगतान शामिल हैं।

मास्टरकार्ड में साउथ एशिया मार्केट डिलीवरी के वाइस प्रेसिडेंट, हरीश बाबू एस.एन. ने कहा, हालांकि पिछले कुछ वर्षो में डिजिटल भुगतान के उपयोग में अविश्सनीय वृद्धि ने यूजर्स के लिए लेनदेन की प्रक्रिया को आसान और अधिक सुविधाजनक बना दिया है, लेकिन इसके कारण यह भी हुआ है कि दुनिया भर में ऑनलाइन धोखाधड़ी बढ़ गई है। इस पृष्ठभूमि के खिलाफ, मास्टरकार्ड को मास्टरकार्ड की डीएसआरपी और एमसीबीपी तकनीक द्वारा प्रमाणीकरण के माध्यम से डिजिटल भुगतान पारिस्थितिकी तंत्र की सुरक्षा के प्रयासों में कॉमवीवा का समर्थन करने में प्रसन्नता हो रही है, जो सभी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कार्ड क्रेडेंशियल्स को टोकन और सुरक्षित करेगा।

कॉमवीवा में डिजिटल फाइनेंशियल सॉल्यूशंस के उत्पाद प्रबंधन के प्रमुख और उपाध्यक्ष ओमकार मुकुंद नायक ने कहा, डेटा सुरक्षा भुगतान प्लेटफॉर्म की तलाश में किसी भी व्यवसाय की सर्वोच्च प्राथमिकता बन गई है। हम एमसीबीपी, डीएसआरपी और ईएमवीसीओ एसबीएमपी प्रमाणन प्राप्त करने के लिए उत्साहित हैं और सभी का समर्थन करने के लिए मास्टरकार्ड को धन्यवाद देते हैं। जैसे-जैसे डिजिटल अपनाने में तेजी आ रही है, हमारे ग्राहकों को हमारी सुरक्षा पर दोगुना भरोसा हो सकता है।

ओमकार ने आगे कहा, हमारा मोबीक्विटी प्लेटफॉर्म जारी करने वाले बैंकों को सुरक्षित भुगतान सेवाओं को जल्दी से शुरू कर लोगों की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम बनाता है। पहले, मोबीक्विटी टैप एंड पे डिप्लॉयमेंट मास्टरकार्ड द्वारा प्रमाणित किया गया था। अब मोबीक्विटी टोकनाइजेशन प्रोडक्ट एसडीके के प्रमाणीकरण के साथ, जारी करने वाले बैंकों को एमसीबीपी प्रमाणीकरण प्रक्रिया से गुजरने की आवश्यकता नहीं होगी, इस प्रकार संपर्क रहित कार्ड भुगतान सेवा शुरू करने के लिए समय में काफी तेजी आएगी।

क्यूआर कोड आधारित भुगतान डिजिटल निकटता भुगतान का एक लोकप्रिय रूप है, जहां उपभोक्ता क्यूआर कोड को स्कैन करते हैं और अपने प्रीपेड वॉलेट या बैंक खाते के माध्यम से भुगतान करते हैं। टोकन के साथ, उसी उपयोग के मामले को कार्डो तक बढ़ाया जा सकता है, जहां कार्ड जारीकर्ता या डिजिटल वॉलेट ऐप वास्तविक कार्ड विवरण के बजाय नेटवर्क में भुगतान टोकन और क्रिप्टोग्राम साझा करता है। यह उपयोग कार्ड के माध्यम से भुगतान स्वीकार करने के लिए पीओएस हार्डवेयर की आवश्यकता को समाप्त करता है और इस प्रकार सुरक्षा के साथ सुविधा प्रदान करते हुए व्यापारियों के लिए लागत का अनुकूलन करता है।

इन-ऐप रिमोट भुगतान टोकन के लिए एक और उभरता हुआ उपयोग मामला है। जब उपभोक्ता किसी मर्चेट ऐप पर खरीदारी कर रहे हों, तो चेकआउट के समय, सामान्य भुगतान साधनों के साथ, उनके पास भुगतान के लिए टोकनयुक्त कार्ड चुनने का विकल्प होगा। टोकनयुक्त कार्ड का चयन करने पर उन्हें कार्ड जारीकर्ता या डिजिटल वॉलेट ऐप पर रीडायरेक्ट कर दिया जाएगा। कार्ड जारीकर्ता या डिजिटल वॉलेट ऐप टोकन और क्रिप्टोग्राम को सुरक्षित रूप से मर्चेट ऐप में साझा करेगा, जो तब इन विवरणों का उपयोग कर भुगतान के साथ आगे बढ़ेगा, धोखाधड़ी के जोखिम को कम करेगा क्योंकि भुगतान नेटवर्क में कार्ड विवरण प्रवाहित नहीं हो रहे हैं।

कॉमवीवा की गतिशीलता एचसीई-और टोकनाइजेशन-आधारित टैप एंड पे समाधान विश्व स्तर पर कई बैंकों और कार्ड जारीकर्ताओं द्वारा तैनात किया गया है, उदाहरण के लिए, भारत में एसबीआई कार्ड एसबीआई कार्ड पे सेवा प्रदान करता है।

--आईएएनएस

एसकेके/एसकेपी

Share this story