गोल्डी सोलर हर घर तिरंगा कैम्पेन में शामिल होने वाली पहली प्राइवेट कंपनी बनी (लीड-1)

गोल्डी सोलर हर घर तिरंगा कैम्पेन में शामिल होने वाली पहली प्राइवेट कंपनी बनी (लीड-1)
गोल्डी सोलर हर घर तिरंगा कैम्पेन में शामिल होने वाली पहली प्राइवेट कंपनी बनी (लीड-1) सूरत, 1 अगस्त (आईएएनएस)। गुणवत्ता को लेकर सबसे ज्यादा सजग रहने वाले सोलर ब्रांड, गोल्डी सोलर ने सोमवार को सरकार के हर घर तिरंगा कैम्पेन को सहयोग देने की घोषणा की। इस कदम से यह पहली ऐसी कंपनी बन गई है, जिसने गुजरात में 75,000 तिरंगे वितरित करने और लगाने का संकल्प लिया है।

यह गतिविधि अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट, भावनगर, गांधीनगर और कुछ अन्य प्रमुख शहरों में घरों और दफ्तरों में चलाई जाएगी। तिरंगे को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के हर घर तिरंगा कैम्पेन के अंतर्गत अगस्त महीने में तीन दिनों के लिए देशभर के 20 करोड़ घरों में फहराया जाएगा।

इस घोषणा के बारे में, कैप्टन ईश्वर ढोलकिया, मैनेजिंग डायरेक्टर, गोल्डी सोलर का कहना है, यह तिरंगा एक भारतीय के रूप में हमारी पहचान का प्रतीक है। हमें विश्वाोस है कि सरकार का हर घर तिरंगा कैम्पेन देशभक्ति का एक नया जोश लेकर आएगा। गोल्डी सोलर गर्व से मेड इन इंडिया कंपनी है और हमारा मानना है कि राष्ट्रीयता को बढ़ावा देने की दिशा में, और हमारे देश के लोगों, जिन्होंने गोल्डी को सफलता की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में मदद की है, के लिए यह हमारा छोटा-सा योगदान है।

गोल्डी सोलर के डायरेक्टर भरत भूत का कहना है, गोल्डी सोलर अभी गुजरात में दो अत्याधुनिक फैक्ट्रियों का संचालन कर रहा है। हमने छतों और उद्योग परिसरों में सोलर प्लांट लगाए हैं। गुजरात में हर तीसरी छत पर हमने सोलर सिस्ट म लगाया है। हम राज्य में स्थायित्व, स्वास्थ्य देखभाल, शिक्षा, पशु कल्याण, महिला सशक्तिकरण और प्राकृतिक आपदाओं के क्षेत्र में कई परोपकारी पहल करते हैं। हमने हाल में गुजरात के एक गांव, दुधाला को पूरी तरह से सोलर से सशक्त किया।

गोल्डी सोलर के विषय में :

गोल्डी सोलर प्रमुख भारतीय सोलर ब्रांड्स में से एक है। कंपनी पैनल बनाती है, ईपीसी सेवाएं प्रदान करती है और एक स्वतंत्र बिजली उत्पादक (आईपीपी) भी है। 2011 में स्थापित यह एक बहुराष्ट्रीय कंपनी है, जिसका मुख्यालय सूरत, गुजरात में है और यह 20 से अधिक देशों में कई अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड की जरूरतों को पूरा करती है।

कंपनी के पास गुजरात के सूरत, पिपोदरा और नवसारी में 2.5 जीडब्ल्यू की दो फैसिलिटीज हैं। हमारी नवीनतम मॉड्यूल श्रृंखला हेलॉक-प्रो है, जिसमें 560 डब्ल्यूपी की शक्ति है और यह एम10 तकनीक से लैस है। कंपनी एएलएमएम (मॉडल और निर्माताओं की स्वीकृत सूची) के तहत सूचीबद्ध है और इसके पास बीआईएस (भारतीय मानक ब्यूरो) प्रमाणपत्र है।

--आईएएनएस

एसजीके

Share this story