दिल्ली में पेट्रोल पर वसूला जा रहा है 49 रुपए प्रति लीटर का टैक्स

दिल्ली में पेट्रोल पर वसूला जा रहा है 49 रुपए प्रति लीटर का टैक्स
दिल्ली में पेट्रोल पर वसूला जा रहा है 49 रुपए प्रति लीटर का टैक्स नई दिल्ली, 27 अप्रैल (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की विभिन्न राज्य सरकारों से पेट्रोल डीजल पर वैट की दरें घटाकर लोगों को राहत देने की अपील की है। प्रधानमंत्री ने इस दौरान कई राज्यों का उदाहरण देते हुए बताया कि कुछ राज्यों में पेट्रोल डीजल पर वैट की दर कम की गई है। वहां लोगों को ईंधन की कीमतों में राहत मिली है। गौरतलब है दिल्ली में पेट्रोल पर करीब 49 रुपये बतौर टैक्स वसूला जाता है। यह टेक्स प्रति 1 लीटर पेट्रोल पर वसूला जाता है।

पेट्रोल पर वसूले जाने वाले टैक्स में केंद्रीय एक्साइज टैक्स और राज्य सरकार द्वारा वसूले जाने वाला वैल्यू ऐडेड टैक्स शामिल है। दिल्ली में 27 अप्रैल को पेट्रोल की कीमत 105.41 रुपये प्रति लीटर रही। इसमें प्रति लीटर पेट्रोल पर 49.09 रुपये का टैक्स लगता है। पेट्रोल पर प्रति लीटर कुल टैक्स में से 27.90 रुपये एक्साइज ड्यूटी है और 17.13 रुपये वैट है। इसमें डीलर कमीशन 3.86 रुपये प्रति लीटर है।

पेट्रोल के अलावा दिल्ली में डीजल 96.67 रुपये प्रति लीटर है। पेट्रोल की तरह डीजल पर भी केंद्रीय एक्साइज कर,राज्य सरकार का वेट और डीलर कमीशन लिया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गैर-बीजेपी शासित राज्यों से पेट्रोल-डीजल पर टैक्स कम करने का अनुरोध किया है। दरअसल केंद्र ने बीते वर्ष नवंबर में पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती की थी। केंद्र सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय के उपरांत भाजपा शासित राज्यों समेत कुछ राज्यों ने भी पेट्रोल-डीजल पर वैट पर घटाया था।

हालांकि इस दौरान कई गैर भाजपा शासित राज्य ऐसे रहे जिन्होंने डीजल पेट्रोल पर लगने वाले वैट की दरों में कोई बदलाव नहीं किया। जिन राज्यों ने वैट की दरें नहीं खटाई थी उनमें पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, झारखंड और केरल आदि शामिल हैं। प्रधानमंत्री का मानना है कि अब इन राज्यों को वैट में कमी करके लोगों को राहत प्रदान करनी चाहिए।

बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना की मौजूदा स्थिति पर विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने राज्यों से वैट घटाने का अनुरोध किया था। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्यों के बीच सामंजस्य जरूरी है। राज्य भी टैक्स घटाएंगे तो इससे लोगों को फायदा होगा।

--आईएएनएस

जीसीबी/एएनएम

Share this story