बुलेट ट्रेन से तेज दौड़ रही है रैपिड रेल, ट्रायल के लिए तैयार

बुलेट ट्रेन से तेज दौड़ रही है रैपिड रेल, ट्रायल के लिए तैयार
बुलेट ट्रेन से तेज दौड़ रही है रैपिड रेल, ट्रायल के लिए तैयार नई दिल्ली, 8 मई (आईएएनएस)। देश में बुलेट ट्रेन से तेज दौड़ रही दिल्ली से मेरठ तक चलने वाली रैपिड रेल के पहले चरण का ट्रायल कुछ ही दिनों में होने जा रहा है। साहिबाबाद से दुहाई तक 17 किलोमीटर तक हाई स्पीड ट्रैक बनकर तैयार हो जायेगी। ये ट्रेन 180 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी जो देश की पहली रीजनल ट्रेन होगी।

दिल्ली से मेरठ यात्रा करने वाले यात्री लंबे समय से इस रैपिड रेल का इंतजार कर रहे हैं जो जल्द ही खत्म होने वाला है। क्योंकि इसके ट्रायल की तैयारियां अब शुरू हो गई हैं। इसके लिए पहला कोच दुहाई पहुंच चुका है। नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) के निर्धारित समय पर ट्रेन चलाने की पूरी तैयारी है। जिसके तहत साहिबाबाद से दुहाई तक ट्रेन का ट्रायल इस साल मई से शुरू हो जाएगा। जबकि यात्री अगले साल से इस ट्रेन में सफर कर पाएंगे। दुहाई डिपो में एक किमी लंबे ट्रायल ट्रैक और 12 रनिंग ट्रैक बिछाने का काम लगभग पूरा हो चुका है।

इस ट्रेन का निर्माण गुजरात के सवाली में किया जा रहा है। इसे बहुराष्ट्रीय कंपनी अल्स्टोम ने बनाया है। रेलवे के मुताबिक इस ट्रेन से महज 50 से 55 मिनट में दिल्ली से मेरठ की यात्रा की जा सकेगी। रेल नेटवर्क में ये देश में पहली प्रणाली है जिसके तहत 180 किलोमीटर प्रति घंटे वाली ट्रेन पहले चरण में 100 किलोमीटर की दूरी एक घंटे में पूरा करेगी। दिल्ली से गाजियाबाद होते हुए मेरठ तक 82 किलोमीटर का सफर 55 मिनट में पूरा किया जा सकेगा। यात्रा के दौरान दिल्ली से मेरठ 25 स्टेशन तैयार किये जा रहे हैं। हर स्टेशन में 30 सेकेंड ट्रेन रुकेगी और हर 5-10 मिनट में ट्रेन मिल सकेगी।

खास बात ये है कि ट्रेन कोच के आखिरी डिब्बे में स्ट्रेचर का इंतेजाम किया गया है। अगर किसी मरीज को मेरठ से दिल्ली रेफ र किया जाता है तो इसके लिए एक अलग कोच की व्यवस्था है ताकि कम कीमत में मरीज को पहुंचाया जा सके। इसके साथ महिलाओं के लिए अलग कोच की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा दिव्यांगों के लिए अलग सीट्स तैयार की गई है जिन्हें इस्तेमाल न होने की सूरत में मोड़ा जा सकेगा।

हालांकि ट्रेन यात्रा का समय केवल 55 मिनट का होगा लेकिन सीटें बेहद आरामदायक बनाई गई हैं। ट्रेन में एडजेस्टेबल चेयर हैं इसके साथ ही खड़े होने वाले यात्रियों के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं। ट्रेन में वाईफाई की सुविधा, मोबाइल-यूएसबी चार्जर, बड़ी-बड़ी खिड़कियां, इंटेग्रेटेड एसी सिस्टम, ऑटोमेटिक डोर कंट्रोल सिस्टम, सामान रखने की जगह, ड्राइवर से बातचीत के लिए सिस्टम, डायनेमिक रुट मैप, इंफोटेंटमेंट सिस्टम जैसी तमाम सुविधाएं यात्रियों को रैपिड रेल के कोच में देखने को मिलेंगी। सीसीटीवी, ऑटोमेटिंग दरवाजे जैसे तमाम हाईटेक फीचर्स रैपिड रेल में मौजूद हैं। सबसे पहले गाजियाबाद के पास दुहाई से साहिबाबाद के बीच 17 किलोमीटर को पहले चरण में शुरू किया जाएगा। उम्मीद है कि वसुंधरा कॉलोनी के पास बन रही साहिबाबाद रेलवे स्टेशन से दुहाई तक ट्रेन का संचालन अगले साल से शुरू हो जाएगा।

--आईएएनएस

पीटीके/एसकेपी

Share this story