वजीरएक्स को 377 लीगल रिक्वेस्ट प्राप्त हुईं, भारत में 14 हजार से अधिक खातों को किया ब्लॉक

वजीरएक्स को 377 लीगल रिक्वेस्ट प्राप्त हुईं, भारत में 14 हजार से अधिक खातों को किया ब्लॉक
वजीरएक्स को 377 लीगल रिक्वेस्ट प्राप्त हुईं, भारत में 14 हजार से अधिक खातों को किया ब्लॉक नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत में क्रिप्टोकरेंसी ने जिस तरह लोगों का ध्यान खींचा है, क्रिप्टो एक्सचेंज वजीरएक्स ने गुरुवार को कहा कि उसे इस साल अप्रैल-सितंबर की अवधि में कानून प्रवर्तन एजेंसियों (विदेशी एजेंसियों से 38 सहित) से 377 यूजर अकाउंट रिक्वेस्ट प्राप्त हुई हैं।

कंपनी ने कहा कि प्राप्त सभी कानूनी सूचना रिक्वे स्ट आपराधिक प्रकृति के थे और 377 से अधिक रिक्वे स्ट्स के लिए इसकी अनुपालन दर 100 प्रतिशत रही है।

उपरोक्त अवधि में क्रिप्टो एक्सचेंज ने 14,469 खातों को बंद कर दिया।

वजीरएक्स ने पहली बार अपनी पारदर्शिता रिपोर्ट में कहा, इन गतिविधियों में से नब्बे प्रतिशत उपयोगकर्ता संचालित (खाता बंद करने के लिए ग्राहक अनुरोध) थे और 10 प्रतिशत हमारी कानूनी टीम द्वारा शुरू किए गए थे, जिन्हें भुगतान विवादों या एलईए मामलों के लिए चल रही जांच के कारण संबंधित खातों को लॉक करना पड़ा था।

नैसकॉम की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत में पिछले पांच वर्षों में क्रिप्टोटेक उद्योग में 39 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। क्रिप्टोटेक उद्योग भारत में 2030 तक 241 मिलियन डॉलर और विश्व स्तर पर 2026 तक 2.3 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा।

वजीरएक्स के सीईओ और संस्थापक निश्चल शेट्टी ने कहा, पारदर्शिता रिपोर्ट जैसी पहल पारिस्थितिकी तंत्र में विश्वसनीयता जोड़ती है और क्रिप्टो दुनिया को बाहरी लोगों के लिए अधिक आकर्षक बनाती है। हमारा लक्ष्य सकारात्मक नियमों जैसे बड़े लक्ष्यों को देखना है और खुद को नवीन ²ष्टिकोणों के माध्यम से इसका मार्ग प्रशस्त करना है।

वजीरएक्स बाइनेंस समूह का हिस्सा है, जो दुनिया का सबसे बड़ा क्रिप्टो एक्सचेंज है। ये 180 देशों में उपयोगकर्ताओं की सेवा करता है।

भारत में खुदरा निवेशकों द्वारा अब तक क्रिप्टो परिसंपत्तियों में 6.6 बिलियन डॉलर से अधिक का निवेश किया गया है। यह उद्योग 230 से अधिक स्टार्टअप और 150 से अधिक अवधारणाओं और परियोजनाओं के प्रमाण के साथ भारत में 50,000 व्यक्तियों को रोजगार प्रदान करता है।

चूंकि ब्लॉकचैन प्रमुख गेम-चेंजिंग तकनीक में से एक है, वजीरएक्स ने ब्लॉकचैन पेपर्स (बीपी) लॉन्च किया है, जो भारत के पहले ब्लॉकचैन अनुसंधान और विश्लेषण प्लेटफॉर्मो में से एक है।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस

Share this story