सभी कारोबारों को डाटा टेक और एआई को अपनाना ही होगा : एन चंद्रशेखरन

सभी कारोबारों को डाटा टेक और एआई को अपनाना ही होगा : एन चंद्रशेखरन
सभी कारोबारों को डाटा टेक और एआई को अपनाना ही होगा : एन चंद्रशेखरन नयी दिल्ली, 11 मई (आईएएनएस)। टाटा समूह के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन ने बुधवार को कहा कि सभी कारोबारों को डाटा टेक और एआई को अपनाना ही होगा क्योंकि कोई भी इस ट्रेंड से खुद से बच नहीं सकता।

भारतीय उद्योग परिसंघ द्वारा आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम बीइंग फ्यूचर रेडी को संबोधित करते हुये उन्होंने भविष्य में विकास को दिशा देने वाले पांच ट्रेंड्स यानी प्रचलनों के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि इस सूची में पहला स्थान डिजिटल अंगीकरण का है, जो स्वास्थ्य से लेकर शिक्षा और शॉपिंग तक के क्षेत्र में देखा जा सकता है।

टाटा अध्यक्ष ने कहा कि पिछले दो साल के दौरान इंटरनेट हमारी जिंदगी में और अधिक शामिल हो गया है। इसी के साथ एआई, क्लाउड और डाटा टेक्न ोलॉजी भी एडवांस हुई है।

उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी कारोबार एआई और डाटा बिजनेस हो जायेंगे और कोई भी इस ट्रेंड से बच नहीं पायेगा।

एन चंद्रशेखरन ने कहा कि भारत के लिये यह बड़ा मौका है क्योंकि हमारे पास प्रौद्योगिकी की ताकत है। हम डाटा और एआई कारोबार में अपने भविष्य को लेकर बेहतर स्थिति में हैं।

उन्होंने कहा कि दूसरा ट्रेंड आपूर्ति श्रृंखला है, जिसे सिर्फ प्रभावी होने की ही नहीं बल्कि किसी भी परिस्थिति का सामना करने लायक बनाने की जरूरत है।

टाटा अध्यक्ष ने कहा कि भारत के परिप्रेक्ष्य में यह एक सुनहरा अवसर है। भारत के पास आपूर्ति श्रृंखला में रिक्त पड़े स्थान को भरने की महत्वपूर्ण भूमिका है। भारत नेतृत्व कर सकता है और इसे बड़े अवसर के रूप में ले सकता है।

अगला ट्रेंड सततता है यानि सस्टेनेबिलिटी। उन्होंने कहा कि एक तरफ पर्यावरण पर दबाव बढ़ता जा रहा है। नई ऊर्जा पर आधारित कारोबार को वैश्विक सहायता मिलेगी। उसे निवेशकों और हितधारकों का समर्थन प्राप्त होगा।

ई वाहन, नवीकरणीय ऊर्जा, हाइड्रोजन, बैटरी, स्टोरेज सॉल्यूशन आदि में कई अलग प्रौद्योगिकियों की जरूरत होगी और भारत को इसमें जरूर हिस्सा लेना चाहिये।

उन्होंने कहा कि दो और ट्रेंड हेल्थ एंड वेलनेस और ग्लोबल टैलेंट पूल हैं।

--आईएएनएस

एकेएस/एसकेपी

Share this story